HEALTHJharkhandLead NewsRanchi

RANCHI NEWS :  RIMS में  10 साल से काम कर रहे कर्मियों का नहीं हुआ समायोजन, किया कार्य बहिष्कार

रिम्स में नए सिरे से वैकेंसी निकालने पर भी आक्रोश जताया

Ranchi :  राज्य के सबसे बड़े हॉस्पिटल रिम्स में इलाज के लिए दूर-दराज से मरीज आते है. इस बीच मरीजों के इलाज से लेकर जांच में सहयोग करने वाले दर्जनों स्टाफ ने शनिवार को कार्य बहिष्कार कर दिया. इतना ही नहीं सभी डायरेक्टर ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गए.

कर्मचारियों का कहना था कि दस साल से अधिक समय उन्होंने रिम्स को दे दिया. इसके बावजूद उनका समायोजन नहीं किया जा रहा है. जबकि जीबी की बैठक में इसे मंजूरी मिल गई थी. वहीं उन्होंने नए सिरे से वैकेंसी निकालने पर भी आक्रोश जताया.

इसे भी पढ़ें :झारखंड की सड़कों पर चलने वाले कमर्शियल वाहनों से भी वसूला जायेगा यूजर FEE, मोबाइल एप से ली जाएगी मदद

Catalyst IAS
SIP abacus

केवल चार लोगों का ही समायोजन करने पर सवाल

MDLM
Sanjeevani

स्टाफ का कहना था कि जब सभी के लिए जीबी की बैठक में मंजूरी दी गई थी तो प्रबंधन ने केवल चार लोगों का समायोजन क्यों किया है. क्या इसके पीछे कोई खास वजह थी. चूंकि वे लोग भी दस साल से अधिक समय से रिम्स में काम कर रहे है. वहीं स्वास्थ्य मंत्री ने भी उन्हें आश्वासन दिया था कि लंबे समय से काम करने वालों को प्राथमिकता दी जाएगी.

इसे भी पढ़ें :वैशाली में अपराधियों ने दो लीची के व्यापारियों को मारी गोली, चालक का किया अपहरण, रास्ते में छोड़ हुए फरार

कोर्ट जाने की तैयारी में स्टाफ

हॉस्पिटल में 100 से अधिक ऐसे स्टाफ है जिन्होंने दस साल पूरे कर लिए है. अब ये स्टाफ अपने हक के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की तैयारी में है. चूंकि स्टाफ की माने तो प्रबंधन ने वैकेंसी निकाल दी है. जबकि उनके समायोजन की बात की गई थी. ऐसे में वैकेंसी में स्टाफ की संख्या कम होती. लेकिन प्रबंधन ने पूरे स्ट्रेंथ के लिए वैकेंसी निकाली है जो कहीं से भी सही नहीं है.

इसे भी पढ़ें :Jharkhand Panchayat Chunav side Effect : हार के बाद भाजपा में खि‍ंची तलवार, दो पदाधि‍कार‍ियों की बलि‍, लंबी चलेगी लड़ाई

 

Related Articles

Back to top button