JharkhandLead NewsRanchi

Ranchi News  :  अमोनिया रिसाव मामले में रातू सीओ बोले, फैक्ट्री ऐसी जगह ले जायें जहां आबादी ना हो

ग्रामीणों ने कहा कि प्लांट को यहां से दूर ले जाया जाये, वरना नहीं आने देंगे वाहन

Ranchi :  रांची के रिहायशी इलाके में बुधवार को एक फैक्ट्री में हुए अमोनिया गैस का रिसाव हुआ था लेकिन सौभाग्य से कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ. गैस के चपेट में कई लोग आ गए थे लेकिन सभी खतरे से बाहर हैं. इस मामले में रातू सीओ प्रदीप कुमार ने कहा कि आज से 40 वर्ष पूर्व बनी इस फैक्ट्री को ऐसे जगह ले जाना चाहिए जहां आबादी ना हो. इसके लिए कंपनी को नोटिस दी जाएगी.

वही दूसरी तरफ फैक्ट्री के अधिकारियों ने कहा कि आज जिस तरह से गली मुहल्ले में पेट्रोल पंप खुल रहे हैं वे ज्यादा खतरनाक हैं.

इसे भी पढ़ें :BIG NEWS : अगर रेंट पर लगाया है घर तो हो जायें रेडी, अब और ज्यादा देना होगा निगम को टैक्स

ये था मामला

गैस रिसाव की घटना के बाद एकाएक मोहल्ले और प्लांट में हड़कंप मच गया था. करीब एक किलोमीटर की परिधि में गैस का असर देखा गया.

एनडीआरएफ और प्लांट के कर्मचारियों ने गैस रिसाव पर काबू पा लिया. इसके बाद सभी ने राहत की सांस ली.परिसर में लगाए गए प्रायः सभी पेड़ पौधे अमोनिया गैस लीक होने से पूरी तरह से झुलस गए थे.ये अमोनिया गैस की भयावहता को दर्शा रहे हैं .

इसे भी पढ़ें :रक्षा बंधन पर योगी सरकार ने महिलाओं को दिया तोहफा, फ्री में कर सकेंगी बस में सफर

ग्रामीण बोले, हर समय डर के माहौल में रहते हैं

प्लांट के आसपास रहने वाले ग्रामीणों  ने कहा कि इस प्लांट को यहां से दूर ले जाया जाये, अन्यथा हम लोग यहां वाहनों को नहीं आने देगें. ग्रामीणों  ने बताया की इससे पहले भी तीन बार रिसाव हो चुका है. हम लोग हर समय डर के माहौल में रहते हैं.महिलाओ ने प्रशासन से मांग की है कि गैस गोदाम को तुरंत हटाया जाए.

इसे भी पढ़ें :2500 रुपये के खातिर इकलौते बेटे ने पिता की कुदाल से काटकर की हत्या

क्या कहते हैं एनडीआरएफ के अफसर

एनडीआरएफ के इंस्पेक्टर सरोज कुमार ने बताया कि अमोनिया गैस काफी खतरनाक है. इसका असर होने पर सांस लेने में तकलीफ, उल्टियां आना शुरू हो जाती हैं.कंपनी के लोग कुछ भी कहे लेकिन इससे जान माल को भी नुकसान हो सकता है.कंपनी अपने आप को बचाने के लिए कह रही है कि इससे जान माल का नुकसान नहीं होता है.

इसे भी पढ़ें :ADJ उत्तम आनंद की हत्या मामले में दो आरोपियों का हुआ नार्को टेस्ट, ब्रेन मैपिंग भी होगी

बारिश के कारण असर कम हुआ

जिस समय गैस रिसाव काफी तेजी से हो रहा था उस समय दूर से आसमान में गैस दिखने लगी थी, लेकिन जिस वक्त यह घटना घटी ठीक उसी समय काफी तेज बारिश होने लगी.जिसके कारण जान माल का नुकसान कम हुआ.

इसे भी पढ़ें :

इसे भी पढ़ें :रक्षा बंधन पर योगी सरकार ने महिलाओं को दिया तोहफा, फ्री में कर सकेंगी बस में सफर

 

Related Articles

Back to top button