HEALTHJharkhandLead NewsRanchi

Ranchi News :  रांची नगर निगम नहीं करा रहा फॉगिंग, हेल्थ डिपार्टमेंट ने जारी किया एसओपी

डोर टू डोर कैंपेन के अलावा फॉगिंग और छिड़काव कराने का आदेश

Ranchi :  मानसून ने राज्य में दस्तक दे दी है. इससे निपटने को लेकर सभी नगर निकायों को अभियान चलाने का आदेश दिया गया. इसके तहत डोर टू डोर कैंपेन के अलावा फॉगिंग और छिड़काव कराने का आदेश दिया गया था, लेकिन विभाग की ओर से जारी आदेश को लेकर नगर निकाय गंभीर नहीं है.

अब हेल्थ डिपार्टमेंट ने नगर विकास विभाग को फॉगिंग कराने को लेकर एसओपी जारी किया है. जिससे कि नगर निकायों में इफेक्टिव फॉगिंग कराई जा सके. वहीं मच्छरों को पनपने से रोका जा सके. हेल्थ डिपार्टमेंट ने पत्र में यह भी लिखा है कि डेंगू-चिकनगुनिया के अलावा अर्बन मलेरिया को फैलने से रोकने के लिए योजना बनाकर फॉगिंग करने की जरूरत है, तभी इसे फैलने से रोका जा सकेगा. बताते चलें कि राजधानी में नगर निगम फॉगिंग के नाम पर केवल आईवॉश करने में लगा है. वहीं अन्य जिलों में भी फॉगिंग कराने की व्यवस्था दुरूस्त नहीं है.

इसे भी पढ़ें :धनबाद में बेटे ने मां, सौतेले पिता व भाई की हत्या कर खुदकुशी की

फॉगिंग करने का बताया तरीका

हेल्थ डिपार्टमेंट ने पत्र में फॉगिंग को लेकर गाइडलाइन जारी की है. इसमें बताया है कि फॉगिंग कराने के लिए क्या क्या चीजे फालो करने की जरूरत है. इसके अलावा फॉगिंग कराने का समय भी बताया गया है जिससे कि फॉगिंग कारगर हो. साथ ही यह भी कहा गया है कि समय का भी चुनाव करने की जरूरत है तभी फॉगिंग का इफेक्ट होगा और मच्छरों को पनपने से रोका जा सकेगा.

इसे भी पढ़ें :सहकर्मियों के हटाए जाने से नाराज स्वास्थ्य कर्मियों ने शुरू किया प्रदर्शन

केमिकल के इस्तेमाल की भी जानकारी दी

कोल्ड फॉगिंग, थर्मल फॉगिंग के अलावा लार्वीसाइडल स्प्रे कराने का आदेश जारी किया गया है. इसके तहत इनडोर और आउटडोर भी फॉगिंग कराया जाना है. उसमें भी जगह को देखते हुए फॉगिंग कराने का तरीका बताया गया है. मार्केट, ओपन एरिया, रेसिडेंशियल एरिया में फॉगिंग कैसे करने की जरूरत है. इतना ही नहीं उसमें इस्तेमाल किए जाने वाले केमिकल के बारे में भी पूरी जानकारी दी गई है. जिससे कि लोगों की सेहत पर भी फॉगिंग का कोई नुकसान न हो.

इसे भी पढ़ें :सीएम हेमंत ने पकड़ी थी गड़बड़ी, राडार पर पिस्का मोड़ से पलमा और बीजूपाड़ा सड़क निर्माण कराने वाले इंजीनियर व ठेकेदार

 

Related Articles

Back to top button