Corona_UpdatesJharkhandLead NewsRanchi

Ranchi News :  सीएचसी रिसलदार नगर डोरंडा में शुरू होगा पोस्ट कोविड OPD

उपायुक्त ने कोविड-19 के रोकथाम के लिए पदाधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

Ranchi : उपायुक्त छवि रंजन ने सोमवार को समाहरणालय स्थित उपायुक्त सभागार में कोविड-19 के रोकथाम के लिए गठित जिलास्तरीय विभिन्न कोषांगों के कार्यों की समीक्षा की. बैठक में सभी कोषांगों के नोडल पदाधिकारियों से उपायुक्त ने किये जा रहे कार्यो की विस्तार से जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये.

बैठक में सबसे पहले उपायुक्त छवि रंजन ने कोरोना संक्रमण के दौरान कोषांगों और संबंधित पदाधिकारियों के कार्यों की प्रशंसा की. उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की पूरी टीम की उपलब्धि है कि हम कोरोना को नियंत्रित करने में काफी हद तक सफल हुए है. कोरोना से जंग जारी है. अब हमें अपने अनुभवों से सीख लेते हुए आगे कार्य करने की आवश्यकता है ताकि कोरोना को जड़ से समाप्त किया जा सके.

इसे भी पढ़ें :IPL 2021: फैंस के लिए खुशखबरी, जानिये 31 मैचों में दर्शकों को किस शर्त पर मिलेगी एंट्री

ram janam hospital
Catalyst IAS

सीएचसी रिसलदार नगर में सिर्फ 4 कोरोना मरीज इलाजरत

The Royal’s
Sanjeevani

बैठक के दौरान उपायुक्त ने सदर अस्पताल और शहरी सामुदायिक केन्द्र रिसलदार नगर डोरंडा में कोविड मरीजों के मौजूदा हालात की जानकारी ली. संबंधित पदाधिकारी ने बताया कि सीएचसी रिसलदार नगर में 4 मरीज इलाजरत हैं. इन्हें जल्द ही छुट्टी मिल जायेगी. उपायुक्त ने कहा कि अब कोरोना के मरीज आते हैं तो उन्हें इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया जायेगा. उन्होंने सीएचसी रिसलदार नगर में पोस्ट कोविड ओपीडी शुरू करने का निर्देश दिया.

उपायुक्त ने जिला में एक्टिव कंटेनमेंट जोन की समीक्षा करते हुए संबंधित पदाधिकारी को जांच कर रिपोर्ट देने को कहा. उन्होंने कहा कि जहां मरीज स्वस्थ हो चुके है वहां से कंटेनमेंट जोन को डिनोटिफाई करें.

ससमय मुख्यमंत्री कोरोना किट उपलब्ध कराएं

होम आइसोलेशन कोषांग की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने होम आइसोलेशन के मरीजों को ससमय मुख्यमंत्री कोरोना किट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया. उन्होंने आइसीएमआर, सीवी और फैसिलिटी ऐप में अद्यतन डेटा अपलोड करने का निदेश दिया. काॅन्टैक्ट टेस्टिंग एंबुलेंस, वाहन एवं अन्य कोषांगों की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने संबंधित नोडल पदाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिये.

इसे भी पढ़ें :वायु प्रदूषण के प्रमुख स्रोतों एवं हॉट स्पॉट को चिह्नित करना क्लीन एयर एक्शन प्लान के लिए बेहद जरूरी

ब्लैक फंगस को लेकर रिपोर्ट तैयार करें

उपायुक्त ने जिला में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या के बारे में जानकारी ली. ब्लैक फंगस के संबंध में उन्होंने फार्मेट तैयार कर रिपोर्ट देने का निर्देश संबंधित पदाधिकारी को दिया. उपायुक्त ने कहा कि रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख करें कि मरीज की होम आइसोलेशन हिस्ट्री है या नहीं, उसे स्ट्रॉयड दिया गया या नहीं, क्या मरीज स्टीमिंग करता था, क्या उसे डायबिटीज है और क्या उसे इंडस्ट्रियल ऑक्सिजन मिला?

इसे भी पढ़ें :सीआइआइ ने टाटा स्टील के सीईओ टीवी नरेंद्रन को नया अध्यक्ष चुना

टीकाकरण पर फोकस, भ्रांतियां दूर करें

उपायुक्त द्वारा जिला में वैक्सीनेशन कार्य की विस्तार से समीक्षा की गयी. उन्होंने पदाधिकारियों से टीकाकरण पर फोकस करने का निदेश दिया. उन्होंने कहा कि जिला को जितने वैक्सीन उपलब्ध करायें गये है सभी का समुचित उपयोग करें, इस बात का विशेष ध्यान रखें कि टीके की बर्बादी न हो. टीकाकरण को लेकर लोगों में व्याप्त भ्रांतियों को दूर करने के लिए उपायुक्त ने व्यापक स्तर पर जागरुकता फैलाने का निदेश दिया. उन्होंने कहा कि सभी प्रखंडों में जाकर जनप्रतिनिधियों से मिलें, उनका वैक्सीनेशन करायें और उनके माध्यम से लोगों को टीका लेने के लिए जागरूक करें.

इसे भी पढ़ें :अनलॉक पर रघुवर दास का सुझाव: अलग-अलग सेक्टर की दुकानें सप्ताह में 2-2 दिन खुलें

उपायुक्त की अपील, टीका अवश्य लें

उपायुक्त छवि रंजन ने एक बार फिर राँचीवासियों से अपील करते हुए कहा है कि वो सावधानी बरतें. अभी भी संक्रमण पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है, कोरोना से संबंधित दिशा निर्देशों का पूरी तरह से पालन करें और टीका अवश्य लें. उन्होंने कहा कि 45 वर्ष से ज्यादा आयु के लोगों के लिए ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था है. साथ ही 18-45 वर्ष आयु वर्ग के लोगों से भी उपायुक्त ने टीका लेने की अपील की. उन्होंने कहा इस बात का ध्यान रखें कि पहला और दूसरा डोज एक ही हो.

इसे भी पढ़ें :रांची नगर निगम में नहीं हो रहा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, सर्टिफिकेट बनाने के लिए काउंटर पर लग रही है भीड़

पदाधिकारियों ने साझा किये अपने अनुभव

उपायुक्त छवि रंजन ने आपदा की घड़ी में पदाधिकारियों के कार्य की प्रशंसा की. उन्होंने कहा कि कई पदाधिकारी इस दौरान कोविड पॉजिटीव भी हुए और अपने कार्य का निर्वहन भी करते रहे, जो काबिले तारीफ है. जिला प्रशासन की पूरी टीम एकजुट होकर लगी रही, मुझे आप सब पर गर्व है. बैठक दौरान उपायुक्त ने पदाधिकारियों से उनके अनुभव के बारे में भी पूछा. कई पदाधिकारियों ने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि किस तरह दबाव से निपटते हुए उन्होंने अपने कार्यों का निर्वहन किया.

इसे भी पढ़ें :बिहार में आठ जून तक लॉकडाउन बढ़ा, व्यापार के लिये अतिरिक्त छूट

Related Articles

Back to top button