न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची नगर निगम ने एस्सेल इंफ्रा को किया टर्मिनेट , पार्षदों ने टर्मिनेट करने की मांग की थी

राजधानी में सफाई कार्य कर रही एस्सेल इंफ्रा कंपनी की एजेंसी आरएमएसडब्ल्यू (रांची नगर निगम व एसेल इंफ्रा की ज्वाइंट वेंचर) को निगम ने टर्मिनेट कर दिया है.

43

Ranchi : राजधानी में सफाई कार्य कर रही एस्सेल इंफ्रा कंपनी की एजेंसी आरएमएसडब्ल्यू (रांची नगर निगम व एसेल इंफ्रा की ज्वाइंट वेंचर) को निगम ने टर्मिनेट कर दिया है. नगर आयुक्त ने इस संदर्भ में एक आदेश जारी कर कहा है कि लचर सफाई व्यवस्था को देखते हुए कंपनी एस्सेल इंफ्रा को एक शो-कॉज नोटिस जारी कर पूछा गया था कि उसे क्यों नहीं टर्मिनेट किया जाये. कंपनी के तरफ से नोटिस का कोई सही जवाब नहीं देने पर कंपनी को टर्मिनेट करने का फैसला लिया गया है.

आदेश के बाद कंपनी के अंतर्गत आने वाले कचरा उठाने वाले सभी वाहन, मिनी ट्रांसफर स्टेशन (एमटीएस) का कार्यभार नगर निगम के द्वारा ले लिया गया है. वही इन एमटीएस में कार्यरत सभी कर्मी भी अब निगम के अंतर्गत सफाई कार्य करेंगे.

इसे भी पढ़ेंः ऑर्किड अस्पतालः मलेरिया था नहीं चला दी दवा, विभाग ने CS से कहा कार्रवाई हो, छह माह बाद भी नहीं हुई

सचिव ने निगम को बताया था सक्षम

Related Posts

भाजपा शासनकाल में एक भी उद्योग नहीं लगा, नौकरी के लिए दर दर भटक रहे हैं युवा : अरुप चटर्जी

चिरकुंडा स्थित यंग स्टार क्लब परिसर में रविवार को अलग मासस और युवा मोर्चा का मिलन समारोह हुआ.

SMILE

शहर की सफाई व्यवस्था की बदहाल हालत देखते हुए निगम के कई पार्षदों ने कंपनी एस्सेल इंफ्रा को टर्मिनेट करने की मांग की थी. गत 9 मार्च को बोर्ड बैठक में मेयर आशा लकड़ा ने इस प्रस्ताव पर स्वीकृति दी थी. बाद में निगम ने इस संदर्भ में एक प्रस्ताव विभाग को भेजा था. हालांकि विभागीय सचिव ने भेजे गये प्रस्ताव के जवाब में निगम को ही कंपनी को टर्मिनेट करने में सक्षम बताया था. इसके बाद नगर आयुक्त ने कंपनी को टर्मिनेट करने का आदेश जारी किया है.

वार्डों के लिए प्रतिनियुक्त हुए अधिकारी

कंपनी को टर्मिनेट के साथ ही सभी 53 वार्डों में सफाई, जल-जमाव कार्यों की निगरानी एवं पर्यवेक्षण हेतु सभी निगम कर्मियों की प्रतिनियुक्ति नगर आयुक्त ने की है. इन अधिकारियों में उपनगर, सहायक नगर आयुक्त स्तर के अधिकारी शामिल है. नगर आयुक्त ने यह निर्देश विभागीय सचिव के निर्देश के बाद दिया है. साथ ही प्रतिनियुक्त किये गये अधिकारियों को कहा गया है कि आवंटित किये गये अधिकारी विभिन्न वार्डों का निरीक्षण कर कार्यों में पायी गयी सभी त्रुटियों को संबधित MPS एवं जोनल सुपरवाईजर को अवगत करायेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: