न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची : लालू की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई, CBI को शपथ पत्र दायर करने का आदेश

956

Ranchi : देवघर काेषागार चारा घाेटाला मामले में सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर शुक्रवार को हाईकोर्ट में जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में सुनवाई हुई. जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत ने सीबीआई को शपथ पत्र दायर करने का आदेश दिया है. इस मामले की अगली सुनवाई पांच जुलाई को होगी.

लालू ने 13 जून को झारखंड हाईकाेर्ट में जमानत अर्जी दाखिल की थी. इससे पहले लोकसभा चुनाव के दौरान पहले झारखंड हाईकोर्ट, फिर सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया था.

इसे भी पढ़ेंःदर्द-ए-पारा शिक्षक: इच्छाओं को मारकर जीते हैं, दाल अगर बनी तो सब्जी नसीब नहीं

CBI की स्पेशल कोर्ट ने लालू को साढ़े तीन साल की सुनाई है सजा

देवघर कोषागार से अवैध निकासी मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने लालू प्रसाद को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई है. इस मामले में लालू प्रसाद सजा की करीब आधी अवधि जेल में बिता चुके हैं.

hotlips top

सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार सजा की आधी अवधि जेल में काटने पर सजायाफ्ता को जमानत की सुविधा प्रदान की जा सकती है. इसी को आधार बनाकर लालू ने हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की थी.

इसे भी पढ़ेंःAICTE ने बीआइटी मेसरा समेत 10 संस्थानों के कोर्सेस की मान्यता समाप्त की

30 may to 1 june

CBI ने की सजा बढ़ाने की मांग

चारा घोटाला मामले में पहले ही सीबीआइ की ओर से हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल कर लालू प्रसाद सहित अन्य की सजा बढ़ाने की मांग की गई है. सीबीआइ की याचिका में कहा गया है कि इस मामले में जगदीश शर्मा सहित तीन अन्य को सात-सात साल की सजा सुनाई गई है.

सभी पर आरोप समान थे, इसलिए लालू की सजा साढ़े तीन साल से बढ़ाकर सात साल करनी चाहिए. सीबीआइ की याचिका फिलहाल हाई कोर्ट में लंबित है.

इसे भी पढ़ेंःपद-पावर की धौंस दिखा बीडीओ ने पत्नी के इलाज के लिए डॉक्टर को आधी रात बुलाया, शोकॉज

रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं लालू यादव

लालू को चारा घोटाले के दुमका, देवघर और चाईबासा मामले में सीबीआई कोर्ट ने सजा सुनाई है. इन तीनों मामलों में 23 दिसंबर 2017 से लालू सजा काट रहे हैं. लेकिन बीमार होने की वजह से रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं.

लालू यादव डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट की बीमारी, क्रॉनिक किडनी डिजीज, फैटी लीवर, पेरियेनल इंफेक्शन, हाइपर यूरिसिमिया, किडनी स्टाेन, फैटी हेपेटाइटिस, प्रोस्टेट जैसी बीमारियों से जूझ रहे हैं. इस वजह से उन्हें बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार में ना रख कर रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती कराया गया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like