न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची को फिर से दागदार बनाने की कोशिश, देश के खिलाफ हो रही है साजिश

 मोहल्ले वाले भी थे इन सब बातों से अंजान

150

Ranchi : झारखंड की राजधानी रांची को एक बार फिर दागदार बनाने की कोशिश की गयी. रांची के कांटाटोली स्थित हाशिब एनक्लेव और कांके स्थित भीट्ठा बस्ती में देश में साइबर ठगी, धार्मिक उन्माद फैलाने जैसे मामले की साजिश चल रही थी. लेकिन इस तरह देश के खिलाफ चल रहे साजिश की जानकारी आसपास के लोगों को भी नहीं थी. शुरुआती जांच में पता चला है कि पूरे मामले का तार दुबई से जुड़ा हुआ है. इस घटना का मुख्य सूत्रधार जावेद अहमद फरार है.

इसे भी पढ़ें- पलामू: पति ने की पत्नी की हत्या, 10 दिन पहले ही जेल से छुटा था आरोपी

किसी से बात नहीं करते थे दोनों युवक

कांके रोड स्थित भीट्ठा बस्ती के के लोगों से जब इस मामले में बात की गई, तो उन्होंने बताया कि मंगलवार की रात पुलिस के बड़े अधिकारी 10 गाड़ी से यहां पहुंचे. कुछ पुलिस के अधिकारी वर्दी में थे और कुछ सिविल ड्रेस में थे. उसके बाद हम लोगों को पता चला कि यहां पर कुछ गलत काम हो रहा है. पुलिस के द्वारा जिस घर में छापेमारी की गई उस घर में रहने वाले दोनों युवक किसी से बात नहीं करते थे. वह लोग कहीं से भी आते थे तो सीधे अपने रूम में चले जाते थे. मोहल्ले के लोगों ने बताया कि कभी कभी देखते थे कि घर के बाहर दो तीन गाड़ियां आकर लगी रहती थीं.

इसे भी पढ़ें- शारीरिक संबंध बनाने से इनकार करने पर की गयी थी महिला की हत्या

 क्या है पूरा मामला

साइबर ठगी और धार्मिक उन्माद फैलाने की सूचना पर एटीएस रांची पुलिस और साइबर पुलिस ने मंगलवार की रात कांटाटोली स्थित हासिब एनक्लेव के एक फ्लैट और कांके के भीट्ठा स्थित एक घर में छापेमारी की. छापेमारी के दौरान वहां से 7000 से अधिक सिम कार्ड बरामद किया. साथ ही सिम बॉक्स और मॉनिटर भी बरामद किए गए. पुलिस ने दोनों स्थानों से एक युवक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. हिरासत में लिए गये दो लोगों का नाम पुलिस नहीं बता रही है.

इसे भी पढ़ें- अब पाकुड़ की जनता कह रही कैसे डीसी के संरक्षण में हो रहा है अवैध खनन, सवालों पर डीसी चुप

मैसेज वायरल कर धार्मिक उन्माद फैलाने की कोशिश

मिली जानकरी के मुताबिक देश भर में मैसेज वायरल कर धार्मिक उन्माद फैलाने की कोशिश की जा रही थी. इस सिम बॉक्स से पाकिस्तान, बांग्लादेश और अरब देशों में बातचीत की जाती थी और मैसेज भेजे जाते थे. जानकारी के मुताबिक इंटेलिजेंस की सूचना को ये रैकेट लीक किया करता था.

इसे भी पढ़ें- देवघर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा का नाम सिदो-कान्हू अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा रखे सरकार, वरना करेंगे…

palamu_12

 रैकेट का मास्टरमाइंड जावेद अहमद

जानकारी के अनुसार पूरे मामले की तार दुबई से जुड़े होने के साक्ष्य मिले हैं. जानकारी के मुताबिक, रैकेट का मास्टरमाइंड जावेद अहमद वर्तमान में दुबई में है. जानकारी के मुताबिक, जावेद अहमद ने एक मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर कंपनी के पूर्व कर्मी अब्दुल जामिद को सात लाख देकर पटना स्थित कार्यालय से सात हजार सिम एक्टिवेट करवाए गए थे.

इसे भी पढ़ें- झरिया में डेंगू का प्रकोप, स्वास्थ्य विभाग की चुप्पी ने बढ़ाई लोगों की परेशानी

 12 से ज्यादा लोग लिए गए हैं हिरासत में

मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में अभी तक 12 से अधिक लोगों गिरफ्तारी हो चुकी है. एटीएस और रांची पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में अबतक इस मामले में 12 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है. सभी को गुप्त स्थान पर रखकर पूछताछ की जा रही है. फिलहाल पुलिस इस बारे में कुछ भी बताने से अपनी असमर्थता जाहिर कर रही है.

इसे भी पढ़ें- संपत्ति विवाद में चली गोली, महिला की गर्दन में अटकी, स्थिति नाजुक

कुछ बताने से पुलिस अधिकारी ने की असमर्थता जाहिर

रांची एसएसपी अनीश गुप्ता से जब इस बारे जानकारी लेने की कोशिश की गयी तो उन्होंने कुछ बताने से अपनी असमर्थता जाहिर की. उन्होंने बताया कि मामला काफी गंभीर है. इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं बता सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: