JharkhandRanchi

#Ranchi : गर्भवती महिला के बच्चे की मौत मामले पर हाइकोर्ट ने सरकार से पूछा- इसके लिए क्या कदम उठाये जा रहे

Ranchi: कोरोना वायरस से निपटने के मामले को लेकर दाखिल विभिन्न याचिकाओं पर मंगलवार को हाइकोर्ट में सुनवाई हुई. चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन ने इलाज के अभाव में गर्भवती महिला के बच्चे की मौत के मामले में सरकार से पूछा कि इस मामले में अब तक क्या कारवाई की गयी है. गर्भवती महिला के शिशु की मौत मामले पर कोर्ट ने सरकार से पूछा कि दोबारा ऐसी घटनाएं न हों इसके लिए क्या कदम उठाये जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – कमर कस लीजिये, खर्चे घटा लीजिये, जल्द ही बेतहाशा बढ़ने वाली है महंगाई

क्या है मामला

रविवार को फ़ोटो जर्नलिस्ट विनय मुर्मू की पत्नी को प्रसव पीड़ा हुई. वे पत्नी को लेकर रांची के कई निजी और सरकारी हॉस्पिटल गये पर सभी ने भर्ती लेने से इनकार कर दिया. इसके बाद विनय अपनी पत्नी को हरमू में डॉ रेखा सिंह के पास ले गये. वहां भी कोविड टेस्ट कराने की बात कह कर लौटा दिया गया. उसके बाद वे सदर अस्पताल और डोरंडा स्वास्थ्य केंद्र भी गये पर निराश ही होना पड़ा. अंत में गुरुनानक हॉस्पिटल पहुंचे, पर तब तक देर हो चुकी थी.

Sanjeevani

न्यूज विंग के पत्रकार प्रवीण कुमार की पत्नी का इलाज बरियातू के आरपीएस अस्पताल में चल रहा था. गर्भ का समय पूरा होने के बाद उनकी पत्नी को कुछ परेशानी होने लगी तो उन्हें लेकर प्रवीण डॉक्टर के पास गये. अस्पताल प्रबंधन ने भर्ती लेने से इनकार कर दिया. इस कारण बच्चे की गर्भ में ही मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ें – दुनिया की 5वीं बड़ी अर्थव्यवस्था तेजी से डूब रही है और सरकार चुपचाप देख रही है

स्वास्थ्य मंत्री ने दिया जांच का आदेश

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने पत्रकार विनय मुर्मू के साथ घटित घटना पर दुख व्यक्त किया है, साथ ही स्वास्थ्य सचिव को पत्र लिख कर इस मामले में जांच का निर्देश दिया है. जो भी दोषी पाये जायेंगे उस पर कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. साथ ही स्वास्थ्य सचिव को निर्देश दिया है कि कोविड के अलावे प्रसव एवं अन्य गंभीर रोगों के लिए विशेष व्यवस्था सुनिश्चित करें, किसी भी कीमत पर लापरवाही बरतनेवाले पर कार्रवाई की जाये.

इसे भी पढ़ें – ये सरकार की पॉलिसी का आम आदमी को तमाचा है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button