न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची : युवती ने पहले तोड़ा नियम, फिर पुलिस को ही दे डाली वर्दी उतरवाने की धमकी

वाहन चेकिंग के दौरान युवती ने किया हंगामा

1,393

Ranchi: हमारे देश में ट्रैफिक को लेकर चाहे कितने भी कड़े नियम लागू कर दिया जाए, लेकिन लोग ट्रैफिक के नियमों की धज्जियां उड़ाने से बाज नहीं आते. अक्सर ही लोगों को बिना हेलमेट या फिर बिना गाड़ी के कागजात के बाइक और कार चलाते देखा जाता है. इसके बाद जब पुलिस के द्वारा वो पकड़े जाते हैं तो अपनी गलती मानने की जगह उल्टा पुलिस को ही धमकी देना शुरू कर देते हैं.

मुझे पहचानते नहीं हो तुम्हारी वर्दी उत्तरवा दूंगी

ऐसा ही मामला रांची में भी देखा गया. राजधानी रांची के विभिन्न चौक-चौराहे पर शुक्रवार को पुलिस के द्वारा औचक वाहन चेकिंग अभियान चलाया गया. अल्बर्ट एक्का चौक में भी ट्रैफिक पुलिस के द्वारा वाहनों की जांच की जा रही थी. इस दौरान बिना हेलमेट के स्कूटी चला रही युवती को जब महिला ट्रैफिक पुलिस ने रोका तो युवती ने बीच सड़क पर ही हंगामा शुरू कर दिया. पास में खड़े अन्य ट्रैफिक पुलिसकर्मियों ने युवती को सड़क से किनारे करना चाहा तो युवती हल्ला करने लगी और ट्रैफिक पुलिस को उंगली दिखाते हुए कहा की मुझे पहचानते नहीं हो तुम्हारी वर्दी उत्तरवा दूंगी.


 

इसे भी पढ़ें- झारखंड राज्य के कर्मचारियों के प्रमोशन का रास्ता साफ, कार्मिक विभाग ने जारी की अधिसूचना

पीसीआर ने हंगामा करने वाली युवती को पकड़ा

वहीं हंगामा होता देख पोस्ट के बाहर खड़े एएसआई महादेव पांडे ने युवती को समझाने की कोशिश की तो युवती एएसआई को अपना रौब दिखाने लगी. इसके बाद ट्रैफिक पोस्ट पर तैनात एएसआई महादेव पांडे ने वायरलेस को इसकी सूचना दी. वहीं मौके पर पहुंची पीसीआर ने जब युवती को पकड़ना चहा तो वो वहां से भागने की कोशिश करने लगी, लेकिन 15 मिनट के ड्रामे के बाद पीसीआर ने स्कूटी सवार युवती को पकड़ लिया.

बिना हेलमेट के स्कूटी चला रही थी युवती

हंगामा कर रही युवती के साथ एक और युवती थी जिसने बताया कि स्कूटी उसकी मौसी चला रही थी. उसने स्कूटी चला रही युवती का नाम पूनम कुमारी बताया. साथ ही उसने यह भी कहा कि पूनम ने हेलमेट नहीं पहना था जिसकी वजह से ट्रैफिक पुलिस ने उन्हें पकड़ा था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: