JharkhandLead NewsNEWSRanchi

Ranchi: लालपुर के डॉक्टर विजय राज और उनके परिवार वालों पर FIR दर्ज, बहू ने लगाया दहेज प्रताड़ना और जान से मारने का संगीन आरोप

Ranchi: राजधानी रांची के लालपुर थाना क्षेत्र के रहने वाले डॉ विजय राज और उनके पूरे परिवार वालों पर महिला थाना में एफआईआर दर्ज किया गया है. यह एफआईआर डॉ विजय राज की बहू डॉक्टर तान्या रक्षित ने महिला थाना में दर्ज कराई है. बहु तान्या रक्षित ने अपने पति, ससुर, सास, देवर, दादी सास, मामा ससुर, ननद पर प्रताड़ित करने और जान से मारने का आरोप लगाया है. तान्या रक्षित ने बताया कि ससुराल वाले दहेज के लिए प्रताड़ित और जान से मारने का प्रयास कर रहे थे. हालांकि इस मामले को लेकर महिला थाना में मध्यस्था कराने का प्रयास किया गया था लेकिन मध्यस्था नहीं हो पाया.

डॉ तान्या रक्षित ने बताया कि हमारी शादी 11 मार्च 2015 को डॉ विजय राज के बेटे डॉक्टर विवेक राज से हुई थी. यह शादी हिंदू रीति रिवाज के अनुसार हुई थी. शादी में हमारे पिताजी ने डॉक्टर विजय राज और डॉक्टर विवेक राज के मांगने पर सारा सामान दिया था. वाशिंग मशीन, स्मार्ट टीवी, 4 बर्नर वाला गैस चूल्हा, चांदी का सिक्का, डिनर सेट, चांदी का मछली, डायमंड की दो अंगूठी, सोने का ब्रेसलेट, सोने का रिंग, कान का झुमका, आदि बहुत सारे सामान दिया. इसके अलावा 21 लाख रुपया नगद भी दिया गया था.

इसे भी पढ़ें: लघु उद्योगों के हितों के रक्षा के लिए संगठन सदैव कर रही कार्य: बलदेव भाई प्रजापति

ram janam hospital
Catalyst IAS

चारपहिया वाहन नहीं देने पर शुरू हुआ विवाद

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

डॉ तान्या ने बताया कि ससुर विजय राज ने दहेज में एक चार पहिया वाहन की मांग की. जिसे मेरे पिताजी ने पूरा नहीं कर पाए. शादी संपन्न होने के बाद जब ससुराल पहुंची तो मेरे पति, ससुर, सास, देवर, दादी सास, मामा ससुर, ननद रिचा राज ने मुझे प्रताड़ित करने लगे थे. हालांकि इन सभी से मैं अपनी शादी बचाने का प्रयास करती रही, लेकिन सभी लोगों ने मानसिक रूप से काफी परेशान किया. थोड़े दिन साथ में रहने के बाद पता चला कि पति का दूसरे लड़की के साथ नाजायज संबंध है.

लेकिन मैं अपनी शादी को बचाना चाह रही थी. इसलिए पति को बार-बार समझा रही थी. लेकिन इसके बावजूद पति नहीं माने और मुझे खाने में नींद की गोली दी जाने लगी. जब मैंने इस बात का विरोध किया तो डॉ विजय राज और उनके परिवार द्वारा मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जाने लगा और जान से मारने का प्रयास किया जाने लगा. हालांकि मैं पूरी कोशिश करती रही कि किसी तरीके से या घर टूटने से बच गए लेकिन परिवार वाले नहीं माने और मुझे लगातार प्रताड़ित करते रहे.

घर से भगाने के लिए कर रहे थे षड्यंत्र

डॉ तान्या रक्षित ने अपने परिवार वालों पर आरोप लगाया कि घर से निकालने के लिए हर दिन नया-नया षड्यंत्र रचने लगे और प्रताड़ित करने लगे थे. जिससे मेरा जीना मुश्किल हो गया. तान्या रक्षित ने कहा कि मुझे अपने पति एवं ससुराल वालों से जान का खतरा है.

इसे भी पढ़ें:  राजधानी Ranchi में शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने की कवायद तेज, हिंदपीढ़ी और हेहल में बनेगी पानी की टंकी

Related Articles

Back to top button