HEALTHJharkhandRanchi

रांची : डॉक्टर ने कोरोना का टीका लगवाया तो बढ़ गया बीपी

आधे घंटे रुके और फिर ऑपरेशन करने चले गये

Ranchi: रांची के सदर अस्पताल में पहले दिन 100 लोगों को टीका दिया जाना है. इसमें सफाईकर्मी, डॉक्टर, स्टॉफ नर्स सहित सभी तरह के स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं. इसी क्रम में सदर अस्पताल में पदस्थापित सर्जन डॉ अजित कुमार को भी टीका दिया गया.

डॉ अजित टीका को टीका पड़ने के बाद जब उनके बीपी की जांच की गयी तो वह बढ़ा हुआ था. उसके ठीक आधे घंटे के बाद वे ऑपरेशन थियेटर में चले गये. उन्होंने कहा कि टीका लेने के पहले और तुरंत बाद बीपी जांच की जा रही है.

मेरा बीपी एंजाइटी के वजह से बढ़ गया था. मैं पूरी तरह स्वस्थ हूं और ऑपरेशन भी कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि वैक्सीन से कोई दिक्कत नहीं है. किसी तरह का अबतक कोई साइड इफैक्ट तो नहीं हुआ है. किसी तरह का डर का माहौल नहीं बनाया जाना चाहिये.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : ”50,000 करोड़ का प्रोजेक्ट है … 1000-2000 करोड़ नहीं कमाएंगे क्या?….अपना पार्टी बनाना है… 1-2 करोड़ में ही फुसल जायेंगे क्या ! ये किसकी आवाज है

राज्य के 48 केंद्रों में दिया जा रहा टीका

झारखंड के सभी जिलों के सदर अस्पताल के अलावा एक एक सीएससी में टीका दिया जा रहा है. पहले चरण में राज्य के 1.62 लाख लोगों को कोरोना का टीका दिया जाना है. इसके 1.31 स्वास्थ्यकर्मियों को चिन्हित किया गया है.

इनके अलावा नामकुम मिलिट्री कैंप और रामगढ़ कैंप के मिलिट्री कैंप में आर्मी के लोगों को टीका दिया जाएगा. पहले चरण का लक्ष्य 15 दिनों में पूरा कर लिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें : सूफिया परवीन हत्याकांड को उजागर करने में पुलिस का काम काबिले-तारीफ : कांग्रेस

बन्ना गुप्ता को नहीं लग सका टीका

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को टीका नहीं लग सका है. उन्होंने कहा था कि वे भी स्वास्थ्य विभाग के एक कर्मी हैं. पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने उन्हें टीका लेने की अनुमति नहीं दी.

इस पर उन्होंने कहा कि केंद्र स्वास्थ्य मंत्री को स्वास्थ्य विभाग का अंग नहीं मानता है. उन्होंने कहा कि वे पहला टीका स्वास्थ्यकर्मियों के संशय को दूर करने के लिए लगाना चाहते थे.

इसे भी पढ़ें : खुद वेंटिलेटर पर है नेशनल मेंटल हेल्थ प्रोग्राम, तीन साल में 4000 लोगों ने किया सुसाइड

Related Articles

Back to top button