Crime NewsJharkhandRanchi

रांची: लालू प्रसाद की सुरक्षा में तैनात ASI की तुपुदाना क्षेत्र में पत्थर से कूचकर हत्या

विज्ञापन

Ranchi: तुपुदाना ओपी क्षेत्र में एएसआइ की पत्थर से कूचकर हत्या कर दी गयी है. मृतक एएसआइ की पहचान कामेश्वर रविदास के रूप में हुई है. एएसआइ कामेश्वर रविदास का शव पत्थर के खदान से शुक्रवार की सुबह बरामद किया गया है. वह रिम्स में इलाजरत लालू प्रसाद की सुरक्षा में तैनात थे.

थाना से कुछ ही दूरी पर स्थानीय लोगों ने शुक्रवार की सुबह कामेश्वर रविदास का शव देखा. इसके बाद इसकी जानकारी पुलिस को दी गयी. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वहीं पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुट गयी है.

advt

इसे भी पढ़ें- मेनहर्ट घोटाला-14 : तकनीकी समितियों ने माना- टेंडर गलत हुआ है, सुझाव दिया- इसे रद्द करें, पर रघुवर दास ने शर्तों को ही बदल दिया

रिम्स में तैनात थे कामेश्वर रविदास

जानकारी के अनुसार तुपुदाना ओपी क्षेत्र निवासी एएसआइ कामेश्वर रविदास वर्तमान में रिम्स में तैनात थे. कामेश्वर की हत्या अज्ञात अपराधियों ने पत्थर से कूचकर कर दी है. आशंका जताई जा रही है कि कामलेश्वर की हत्या गुरुवार की रात की गयी. उसके बाद अपराधियों के द्वारा उसके शव को खदान में फेंक दिया गया.

एएसआइ कामेश्वर रविदास का शव बेरमाद स्कूल के पास खदान से बरामद हुआ. अपराधियों के द्वारा घटनास्थल पर गिरे खून को भी पानी से धोकर सबूत मिटाने का प्रयास किया गया था.

adv

इसे भी पढ़ें- कोल इंडिया ने ली है 19594 एकड़ जमीन, बोले हेमंत- 19 वर्षों में किसी सरकार ने इसके जबड़े से निकाले 250 करोड़

मामले की छानबीन में जुटी पुलिस

एएसआइ कामेश्वर रविदास की हत्या अपराधियों ने किस वजह से की है, अब तक यह जानकारी सामने नहीं आयी है. हालांकि आशंका जताई जा रही है कि कामेश्वर रविदास की हत्या आपसी विवाद में की गयी है. पुलिस सभी मुख्य बिंदुओं को ध्यान में रखकर मामले की छानबीन कर रही है.

इसे भी पढ़ें- पुलिसकर्मियों को कोरोना से बचाने के लिए रांची एसएसपी की पहल, तीन कैटेगरी में बांटकर ली जायेगी ड्यूटी

advt
Advertisement

11 Comments

  1. Very good article! We are linking to this particularly great content on our site. Keep up the great writing.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close