JharkhandRanchi

रांची डीसी ने किया मेयर के अधिकारों का हनन, पोल न खुले इसलिए राज्य सरकार करा रही नियमों का उल्लंघन: आशा लकड़ा

  • कभी नगर विकास विभाग तो कभी जिला अधिकारियों से कराया जा रहा निगम के अधिकारों का हनन

Ranchi: कोरोना काल में रांची उपायुक्त ने मेयर के अधिकारों का हनन किया है. जिला आपदा प्रबंधन एक्ट के तहत डिस्ट्रिक्ट अथॉरिटी की एक भी बैठक नहीं हुई. ये बातें मेयर आशा लकड़ा ने कही.

उन्होंने कहा कि स्थानीय निर्वाचित अध्यक्ष होने के नाते वे ही इस अथॉरिटी की अध्यक्ष हैं. डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत जिला स्तर पर कोई भी निर्णय लेने से पहले उपायुक्त को जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक करनी चाहिए थी. लेकिन ऐसा एक बार भी नहीं किया गया.

संवैधानिक प्रावधानों के तहत देखें तो मेयर होने के कारण उपायुक्त के हर निर्णय में मेरी सहमति आवश्यक थी. लेकिन उपायुक्त राय महिमापत रे ने ऐसा नहीं किया. उपायुक्त की ओर से ऐसा किया जाना मेरे अधिकारों का हनन है.

जबकि इस संबध में कई बार उपायुक्त से पत्राचार किया गया. इसके बाद भी उपायुक्त की ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया. उपायुक्त की ओर से ऐसा किया जाना मेयर की गरिमा को ठेस पहुंचाना है.

इसे भी पढ़ें – कोरोना से मर गया अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम? जानें क्या है सच्चाई

राज्य सरकार अलग-अलग तरह से करा रही नियमों का उल्लंघन

मेयर ने कहा कि राज्य सरकार अलग-अलग तरह से नियमों का उल्लंघन करा रही है. कभी नगर विकास विभाग के जरिये तो कभी जिला प्रशासन के अधिकारियों के माध्यम से.

ऐसा कर राज्य सरकार नगर पालिका अधिनियम का उल्लंघन करा रही है जिसके कारण निगम को काम करने में परेशानी हो रही है. ऐसा कर राज्य सरकार रांची निगम क्षेत्र के विकास को बाधित कर रही है.

उन्होंने उपायुक्त राय महिमापत रे पर निशाना साधते हुए कहा कि जिला आपदा प्रबंधन अथॉरिटी की बैठक नहीं करना, डर दिखाता है. जिससे राज्य सरकार और प्रशासन की तैयारियों की पोल खुल जायेगी. इसलिये खुद ही निर्णय ले लिये जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – लोहरदगाः 1041 सैंपल की अबतक नहीं आयी कोरोना जांच रिपोर्ट, 14278 प्रवासियों की हुई वापसी

कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं

मेयर ने कहा कि जिला में कोरोना मरीजों की संख्या खत्म नहीं हुई है. रेड से ऑरेंज जोन में आने के बाद प्रभावित क्षेत्र को सील मुक्त कर दिया गया. लेकिन अभी भी हिंदपीढ़ी क्षेत्र के कई लेागों की जांच रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की गयी है.

क्षेत्र को सील मुक्त किये जाने से पहले अगर डिस्ट्रिक्ट अथॉरिटी की बैठक की गयी होती, तो आने वाले समय में रांची जिला सुरक्षित रहता. छूट के साथ ही रांची में कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जा रहा है. हाट बाजार में लोग घूम रहे है. ऑटो परिचालन शुरू किया गया. लेकिन भाड़ा तय नहीं है.

Corona Update: रांची से 3, लातेहार से 1 और सिमडेगा से 8 कोरोना पॉजिटिव, राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 948

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close