न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची डीसी राय महिमापत रे समेत 19 अधिकारियों ने नहीं सौंपा है अचल संपत्ति का ब्योरा

पारिवारिक वजहों से नहीं सौंप सका हूं ब्योरा : राय महिमापत रे

936

Ranchi : केंद्र सरकार ने देश के सभी आईएएस अफसरों को अपनी अचल संपत्ति का ब्योरा बताने का निर्देश दिया है. इसके पीछे एकमात्र उद्देश्य ये है कि जनता लोक सेवकों की आय के बारे में जान सके. ब्योरा ना देने की सूरत में सरकार की तरफ से कार्रवाई करने का भी प्रावधान है. झारखंड राज्य के करीब-करीब सभी आईएएस अफसरों ने केंद्र सरकार को अपनी संपत्ति का ब्योरा दे दिया है. लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जिन्हें केंद्र सरकार की बात का फर्क ही नहीं पड़ता है. आईएएस अफसरों की अचल संपत्ति का ब्योरा बताने वाली साइट (sparrow.eoffice.gov.in/IPRSTATUS/IPRNotFiledSearch.action) IPR (Immovable property return) स्टेटस के मुताबिक झारखंड के 19 अफसर ऐसे हैं, जिन्होंने अभी तक अपनी अचल संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया है.

इसे भी पढ़ें- राज्य के वरिष्ठ आईएएस का छलका दर्द, कहा- मंत्री गंभीर विषयों को सुनना ही नहीं चाहते

रांची डीसी ने भी नहीं दिया है ब्योरा

hosp3

संपत्ति बताने की आखिरी तारीख 31 मार्च तय थी. लेकिन अगस्त होने को है. झारखंड के 19 अधिकारियों ने अभी तक अपनी अचल संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया है. राज्य के चर्चित आईएएस अफसर राय महिमापत रे जो फिलहाल झारखंड की राजधानी रांची के उपायुक्त हैं, उन्होंने भी अभी तक अपनी अचल संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया है. साइट में उनका नाम ब्योरा नहीं देने वाले अफसरों की लिस्ट में 15वें नंबर पर है. एक आईएएस अधिकारी ने बताया कि ऐसा हो ही नहीं सकता है कि देश का कोई आईएएस ये ब्योरा देना भूल जाए. केंद्र सरकार ने ब्योरा ना देने पर कार्रवाई के कई प्रावधान भी रखे हैं. बावजूद इसके अगर कोई ऐसा करता है तो इसके पीछे जरूर कोई वजह रही होगी.

इसे भी पढ़ें- 2012 से 2017 तक झारखंड के 218 NGO का FCRA लाइसेंस रद्द कर चुका है गृह मंत्रालय

किन आईएएस अधिकारियों के हैं नाम

sparrow.eoffice.gov.in/IPRSTATUS/IPRNotFiledSearch.action के मुताबिक झारखंड कैडर की मीना ठाकुर, नंद किशोर मिश्रा, संतोष कुमार सतपति, ज्योत्स्ना वर्मा रे, राजीव रंजन, ब्रज मोहन कुमार, विनोद शंकर सिंह, विजय कुमार सिंह, अरविंद कुमार, बिरसा उरांव, रमेश कुमार दुबे, मनोज कुमार, राय महिमापत रे, वाघमारे प्रसाद कृष्णा, संदीप सिंह, आदित्य रंजन यादव और विजय नारायण राव के नाम हैं.

इसे भी पढ़ें- बढ़ानी है सरकार को स्थापना दिवस की शोभा, इसलिए छात्रों को तीन माह तक नहीं मिलेंगे 21 हजार शिक्षक

पारिवारिक वजहों से नहीं सौंप सका हूं ब्योरा : राय महिमापत रे

न्यूज विंग को रांची डीसी राय महिमापत रे ने बाताया कि जनवरी में पिता के गुजर जाने के बाद पैतृक संपत्तियों का हस्तांतरण अभी नहीं हो पाया है. काम में व्यस्तता की वजह से घर नहीं जा सका हूं. इन कामों के लिए घर जाना जरूरी है. इसी वजह से अभी तक अचल संपत्ति का ब्योरा नहीं जमा कर पाया हूं. कागजी काम पूरा होते ही मैं ब्योरा जमा कर दूंगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: