JharkhandRanchi

अवैध माइनिंग के खिलाफ कार्रवाई के लिए डेडिकेटेड टीम गठित करने का रांची डीसी ने दिया निर्देश

Ranchi : राजधानी के आसपास के इलाकों हो रही अवैध माइनिंग काम को देख रांची जिला प्रशासन सतर्क होता दिख रहा है. रांची डीसी छवि रंजन ने प्रशासन व खनन कार्य देख रहे सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे अवैध खनन सहित ईंट भट्ठों के आसपास प्रदूषण इत्यादि का त्वरित गति से जांच करें.

Advt

उन्होंने सभी सीओ को निर्देश दिया है कि वे अपने संबंधित थाना प्रभारी के साथ समन्वय स्थापित कर अवैध माइनिंग के कामों में संयुक्त छापामारी करें. जहां भी अवैध खनन हो रहा है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करें.

डीसी ने यह निर्देश गुरुवार को जिला टास्क फोर्स (खनन) समिति की बैठक के दौरान दिया है. समाहरणालय भवन में आयोजित इस समीक्षा बैठक में रांची और बुंडू एसडीएम सहित खनन पदाधिकारी, संबंधित सीओ, कई पुलिस अधिकारी सहित प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : मनरेगा की 24 योजनाओं में गड़बड़ी, बीडीओ-बीपीओ पर जुर्माना, मुखिया, जेई और वेंडर पर FIR का निर्देश

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी ने डीसी को बताया कि 44 क्रशरों पर कार्रवाई के लिए विभाग को पत्र लिखा गया है. अनुमति मिलते ही कार्रवाई की जायेगी. इस दौरान डीसी ने बिजली विभाग और सेल्स टैक्स डिपार्टमेंट को संयुक्त छापेमारी का निर्देश भी दिया. इसके लिए रांची एसडीएम को नोडल पदाधिकारी बनाया गया है.

बैठक के दौरान डीसी ने आरक्षी अधीक्षक, ग्रामीण को कंट्रोल रुम में डेडिकेटेड टीम स्थापित करने का निर्देश दिया ताकि संबंधित थाना प्रभारी को अवैध खनन के खिलाफ छापेमारी के लिए आवश्यकता हो तो यथाशीघ्र टीम उपलब्ध हो पाये.

उपायुक्त ने कहा कि अगर किसी थाना प्रभारी द्वारा अपेक्षित सहयोग नहीं मिलता तो संबंधित सीओ लिखित में इसकी जानकारी दें. वहीं रांची डीसी ने एनजीटी द्वारा जारी किये गये दिशा निर्देशों के आलोक में सभी अवैध खनन या लीज खनन क्षेत्र में भी दिशा-निर्देशों के अनुपालन की अब तक की गयी जांच की भी समीक्षा की.

इसे भी पढ़ें : मनरेगा की 24 योजनाओं में गड़बड़ी, बीडीओ-बीपीओ पर जुर्माना, मुखिया, जेई और वेंडर पर FIR का निर्देश

Advt

Related Articles

Back to top button