न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांचीः पंडरा के बनहोरा मैदान को लेकर विवाद, दावा ठोंक रहे पक्ष का ग्रामीणों ने किया विरोध

1983 में ही खरीदी गई थी जमीन-पक्ष, फर्जी तरीके से जमीन की हो रही खरीद- ग्रामीण

139

Ranchi: रांची के पंडरा ओपी क्षेत्र के बनहोरहा मैदान को लेकर विवाद बढ़ रहा है. एक ओर मैदान को लेकर एक पक्ष के लोग अपनी दावेदारी ठोक रहे हैं. इसे लेकर कुछ लोग पहुंचे, जिसकी जानकारी ग्रामीणों को मिलते ही लोग एकजुट होकर विरोध करने लगे. ग्रामीणों का कहना है कि बरसों से यह जमीन पर स्थानीय जतरा मेला का आयोजन कर रहे हैं. और इस जमीन से लोगों का धार्मिक लगाव है. इस जमीन को साजिश के तहत बेचा गया है, किसी हाल में जमीन पर किसी का कब्जा नहीं करने देंगे.

इसे भी पढ़ेंःपाकुड़ शहर में डीसी के खिलाफ पोस्टरबाजी, जूनियर इंजीनियर और खनन पदाधिकारी के साथ मिलकर भ्रष्टाचार करने का आरोप

क्या है मामला

मिली जानकारी के मुताबिक, गुरुवार को अर्चना सिन्हा नाम की महिला, कोतवाली डीएसपी और सीओ के साथ कोर्ट से ऑर्डर के कागज लेकर बनहोरा मैदान की एक एकड़ जमीन पर अपना दावा पेश करने आई. जिसकी जानकारी बनहोरा के ग्रामीणों को मिली. जानकारी मिलते हैं सभी ग्रामीण एकजुट हो गए और इसका विरोध करने लगे. ग्रामीणों का कहना है कि यह जमीन किसी की नहीं है. इस जमीन पर बरसों से जतरा मेला का आयोजन होते आ रहा है. इस जमीन से हमारा धार्मिक लगाव है इसे गलत तरीके से बेचे जाने की कोशिश की जा रही है.

क्या कहते जमीन पर दावेदारी करने आए लोग

बनहोरा मैदान पर अपना दावेदारी करने आई अर्चना सिन्हा का कहना है कि जमीन उनके पूर्वजों ने 1983 में ही खरीदी है. इस जमीन पर गुरुवार को कोर्ट से मिले ऑर्डर के बाद दावेदारी पेश करने आए हैं. ग्रामीण इस मैदान को लेकर विरोध कर रहे हैं, जो कि सरासर गलत है.

इसे भी पढ़ेंःप्रणव नमन कंपनी ने अच्छी क्वालिटी के कोयले में मिलाने के लिए कटकमसांडी रेलवे कोल साइडिंग में जमा कर रखा है हजारों टन चारकोल (देखें व पढ़ें ग्राउंड रिपोर्ट)

ग्रामीणों का पक्ष

बनहोरा के ग्रामीणों का कहना है कि यह जमीन को फर्जी तरीके से बेचने की कोशिश की जा रही है. अगर इस पर कोई अपनी अपनी दावेदारी दिखा रहा है. ग्रामीणों का कहना है कि अगर जमीन खरीदी गई है. तो जिससे खरीदी गई है, उनको लेकर दावेदारी करने वाले आएं, ग्रामीण पीछे हट जायेंगे. लेकिन अर्चना सिन्हा उस व्यक्ति को लाने को तैयार नहीं है, जिससे साफ पता चलता है कि जमीन फर्जी तरीके से खरीदी गई है.
स्थानीय लोगों का कहना है कि बनहोरा मैदान में सालों से जतरा मेला, कर्मा पर्व समेत कई समारोह मनाये जाते हैं. जमीन पर इस तरह की दावेदारी नहीं करने देंगे.

इसे भी पढ़ें – NEWS WING IMPACT : आयुष्मान कार्डधारी से पैसे मांगने के मामले में रिम्स निदेशक बोले- हमसे गलती हुई,…

सैकड़ों की संख्या में जमा हुए ग्रामीण

बनहोरा मैदान पर दावेदारी की बात जैसे सामने आई कि बनहोरा के ग्रामीण गोलबंद होकर विरोध करने लगे. बड़ी संख्या में महिला और पुरुष देखते-देखते जमा हो गए. सबकी जुबान पर एक ही बात थी. जमीन को फर्जी तरीके से बेचे जाने की कोशिश की जा रही है. वही कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार विमल ने कहा कि आपसी सहमति से विवाद का हल निकालने की कोशिश की जायेगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: