Corona_UpdatesRanchi

रांचीः सिविल सर्जन ने मेडिका को भेजा नोटिस, रिम्स को पूरी जानकारी नहीं देने पर जताई आपत्ति

Ranchi: झारखंड में कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली है. वहीं अबतक सात लोगों की मौत भी हो चुकी है. जिनमें दो मौतें 5 और 6 जून को हुईं. दोनों ही पीड़ितों का इलाज रांची के निजी हॉस्पिटल मेडिका में हो रहा था.

ऐसे में सिविल सर्जन ने मेडिका प्रबंधन को नोटिस जारी किया है. नोटिस में मरीज की पूरी जानकारी नहीं देने और कोविड-19 से लड़ने के लिए किये गये इंतजाम पर सवाल उठाये गये हैं.

रिम्स प्रबंधन को क्यों नहीं दी पूरी जानकारी

बता दें कि गुरुवार को रिम्स के न्यूरो वार्ड में एक शख्स की मौत हो गयी. और वो कोरोना पॉजिटिव थे. पीड़ित को सिर पर चोट लगने के बाद रांची के मेडिका में 30 मई को एडमिट किया गया था. जहां 31 मई को उनकी कोरोना जांच की गयी, और इसी दिन गंभीर हालत में उन्हें रिम्स के न्यूरो वार्ड में भर्ती कराया गया.

लेकिन इस दौरान मेडिका ने मरीज के कोरोना संदिग्ध होने के जानकारी रिम्स प्रबंधन को नहीं दी. ना ही मरीज के परिवार वालों ने ही इस बारे में कुछ बताया. वहीं 2 जून को मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी, जिसके बाद ना तो मरीज के परिजनों ने, ना ही जिला प्रशासन ने मरीज के संक्रमित होने की जानकारी रिम्स प्रबंधन को दी. बाद में चार जून को इलाज के दौरान शख्स की मौत हो गयी.

कोरोना संक्रमित की मौत के बाद रिम्स के न्यूरो वार्ड का आइसीयू सील

जबकि 6 जून को जिस शख्स की मौत हुई, उसका इलाज भी मेडिका में ही चल रहा था. किडनी की बीमारी से जूझ रहे इस शख्स की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद मेडिका ने उसे रिम्स रेफर कर दिया. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या मेडिका में कोविड-19 को लेकर मुक्कलम इंतजाम नहीं किये गये हैं. जबकि सरकार की ओर से सभी निजी अस्पतालों को निर्देश है कि उन्हें अपने हॉस्पिटल में आइसोलेशन वार्ड कोरोना मरीजों के लिए बनाने हैं.

रिम्स के न्यूरो वार्ड में संक्रमण का खतरा

मेडिका से रेफर रिटायर्ड फौजी रिम्स के न्यूरो वार्ड में भर्ती था. और रिम्स प्रबंधन को उसके कोरोना संक्रमित होने की जानकारी भी नहीं थी. ऐसे में न्यूरो वार्ड में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है. हालांकि, एहतियात के तौर पर न्यूरो के आइसीयू वार्ड को सील कर दिया गया है.

बता दें कि न्यूरो वार्ड में सीरियस पैसेंट होते हैं. इमरजेंसी में भी लोग वहां भर्ती होते हैं. ऐसे में इस वार्ड में कोरोना मरीज की मौत के बाद से संक्रमण के खतरे के साथ-साथ दहशत भी बढ़ गयी है. डॉक्टर, नर्स, वार्ड ब्वॉय सभी अनजाने डर में हैं.

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close