JharkhandRanchi

#Ranchi : हेमंत से मिले बंधु तिर्की, कहा- छठी जेपीएससी परीक्षा के परिणाम की त्रुटियां ठीक हों, सरकारी नियुक्ति में पारदर्शिता के लिए नीति बने

विज्ञापन

Ranchi: छठी जेपीसी प्रतियोगिता परीक्षा के अंतिम परिणाम की त्रुटियों का समाधान करने के साथ राज्य की अन्य सरकारी नियुक्ति में पारदर्शिता कायम करने के लिए स्पष्ट नीति बने. इसी बात को लेकर विधायक बंधु तिर्की मुख्यमंत्री से मिले.

उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से कहा कि राज्य स्तर पर जेपीएससी और जेएसएससी जैसी संस्थाएं सरकारी नियुक्ति करती हैं पर सरकार की अस्पष्ट नियुक्ति नियमावली के अभाव में राज्य में जितनी भी नियुक्तियां हुईं सभी में विसंगतियां पायी गयी हैं.

इसे भी पढ़ें – #JPSC ने 6ठी सिविल सेवा परीक्षा में अपने ही विज्ञापन और सिलेबस को नहीं माना

advt

छठी जेपीएससी प्रतियोगिता परीक्षा प्रारंभ से आरक्षण नियमावली सहित प्रारंभिक परीक्षा फल प्रकाशन करने में अनियमितता की वजह से विवादों में रही. अब इसका अंतिम परिणाम प्रकाशित हुआ, जिसमें सेवाओं के आवंटन न्यूनतम कट ऑफ मार्क्स, मेधा सूची में निर्धारण में कई त्रुटियां सामने आ रही हैं.

त्रुटियों की अनदेखी नहीं कर सकती सरकार

इन परिस्थितियों में सरकार इन त्रुटियों की अनदेखी नहीं कर सकती है. छात्रों-बेरोजगारों के विश्वास और भरोसे को कायम रखना हम सबकी सामूहिक जिम्मेवारी भी है. मौके पर उन्होंने छठी जेपीएससी परीक्षा विवाद पर कहा कि सरकार स्क्रूटनी कमिटी गठित करे और रिजल्ट की स्क्रूटनी की जाये. इसके बाद ही आगे की कार्यवाही प्रारंभ की जाये.

इसे भी पढ़ें – #TerrorAttack: हंदवाड़ा में 48 घंटे में दूसरा आतंकी हमला, सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद

नियुक्ति नियमावली बने

साथ ही साथ उन्होंने राज्य में भविष्य में होनेवाली सेवाओं में नियुक्ति के लिए स्पष्ट नियुक्ति नियमावली बनाने की मांग की. उन्होंने कहा कि नियमावली से जो स्पष्ट हो जाये उसके बाद ही किसी तरह की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू की जाये.

adv

आवश्यकता पड़ने पर सरकार नियुक्ति नियमावली को लेकर महाधिवक्ता से लिखित परामर्श ले. ऐसा करने से नियुक्ति प्रक्रिया में भविष्य में होनेवाली गड़बड़ियों को रोका जा सकेगा. साथ ही नियुक्ति की प्रक्रिया में पारदर्शिता का अभाव नहीं होगा.

उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से राज्य हित में दूरदर्शिता और संवेदनशीलता का परिचय देते हुए ऐसी व्यवस्था बनाने की मांग की जो राज्य हित में हो और भविष्य की कोई भी नियुक्ति अस्पष्ट नियमावली के अभाव में नहीं फंसे.

इसे भी पढ़ें – #Lockdown : केंद्र सरकार ने विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने को मंजूरी दी

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button