JharkhandRanchi

रांची : तबलीगी जमात के 16 विदेशियों का जमानत याचिका खारिज, होटवार कैंप जेल में रखने का आदेश

Ranchi : तब्लीगी जमात से जुड़े सभी 16 विदेशियों की जमानत खारिज कर दी गयी है. मंगलवार को सीजेएम फहीम किरवानी की अदालत ने इन सभी विदेशी मौलवियों के मामले की सुनवाई करते हुए इनका बेल रिजेक्ट कर दिया. फिलहाल इन्‍हें होटवार के कैंप जेल में रखने का आदेश कोर्ट ने दिया है.

दरअसल टूरिस्‍ट वीजा पर भारत आये इन सभी विदेशी स्‍कॉलरों को 30 मार्च को राजधानी रांची के हिंदपीढ़ी इलाके की बड़ी मस्जिद और मदीना मस्जिद से गिरफ्तार किया गया था. अदालत ने हिंदपीढ़ी के आरोपित हाजी मेराजुद्दीन को जमानत दे दी है.

इसे भी पढ़ें – प्रधानमंत्री वित्तीय संकट को लेकर राज्यों को मदद देने के लिए वचनबद्ध नहीं हैं : नारायण सामी

 

ram janam hospital
Catalyst IAS

रांची हिंदपीढ़ी थाना में दर्ज किया किया गया था मामला

The Royal’s
Sanjeevani

टूरिस्ट वीजा के नाम पर भारत आकर धर्म प्रचार करने के मामले में रांची के हिंदपीढ़ी थाना में 18 लोगों पर मामला दर्ज किया गया था. इन 18 लोगों में 17 विदेशी नागरिक शामिल थे. जबकि एक अन्य सदस्य रांची के हिंदपीढ़ी का ही रहने वाला है.

सभी 17 विदेशी नागरिक टूरिस्ट वीजा पर भारत आये थे, लेकिन यहां आकर धर्म के प्रचार का काम करने लगे. इन सभी 18 लोगों पर विदेश से भारत आकर धर्म प्रचार करते हुए सरकारी आदेश के उल्लंघन करने के मामले में हिंदपीढ़ी थाना में कांड सं0 -34/2020, धारा-188/269/270/271 भा0द0वि0 के तहत मामला दर्ज किया गया था.

इसे भी पढ़ें – नोएडा के एक प्राइवेट अस्पताल के खिलाफ लापरवाही से मौत का मामला दर्ज, जांच के लिए बनी उच्च स्तरीय कमिटी

हिंदपीढ़ी की बड़ी मस्जिद से 17 विदेशी सहित 24 लोग मिले थे

बता दें कि बीते 30 मार्च को रांची के हिंदपीढ़ी की बड़ी मस्जिद से 17 विदेशी नागरिक सहित 24 लोग मिले थे. जिसके बाद सभी लोगों को रांची पुलिस ने क्वारेंटाइन किया था. 31 मार्च को उनमें से एक मलेशियाई महिला की टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव पाया गया.

महिला के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद ही झारखंड में ये कोरोना का पहला मामला था. बड़ी मस्जिद से निकाले गये सभी विदेशी जमात पर आये थे और हिंदपीढ़ी की एक मस्जिद में रह रहे थे.

एक सूचना के बाद प्रशासन ने सभी को वहां से निकाला था. सभी को रिम्स ले जाया गया था, जहां पर सभी का कोरोना टेस्ट किया गया. 31 मार्च को रिजल्ट आया, जिसमें एक महिला कोरोना पॉजिटिव पायी गयी थी.

इसे भी पढ़ें –बिजली फिकस्ड चार्जेज पर अब तक कोई फैसला नहीं, चेंबर सरकार से लगातार कर रही है मांग

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button