न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आर्मी की जमीन पर बनेगा रांची एयरोसिटी, जमीन हस्तांतरण को लेकर चल रही है बातचीत

एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के लिए अधिग्रहित जमीन के ट्रांसफर को लेकर एमओए जल्द

53

Ranchi : बिरसा मुंडा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के विस्तारीकरण योजना के अंतर्गत अब रांची में भी एयरोसिटी का निर्माण कराया जायेगा. नयी दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के टर्मिनल-3 और टर्मिनल-2 परिसर के समीप बने एयरोसिटी की तरह रांची में भी व्यावसायिक गतिविधियों और होटलों के चेन खोले जायेंगे. इसके लिए भारतीय सेना (आर्मी) की 24 एकड़ जमीन हस्तांतरित की जायेगी. भारतीय विमानन प्राधिकार (एएआइ) और राज्य सरकार की तरफ से भारतीय सेना के अधिकारियों से जमीन हस्तांतरण की औपचारिकतायें पूरी की जा रही हैं. एएआइ के स्थानीय निदेशक डॉ प्रभात रंजन ने बताया कि एयरोसिटी का निर्माण कार्य अगले पांच वर्षों में पूरा कर लिया जायेगा. उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट परिसर से गुजरनेवाली मुख्य सड़क का कुछ हिस्सा अभी भी सेना की जमीन पर है. इससे गांव वाले भी गुजरते हैं. इसलिए सेना की जमीन लेने की बात पिछले कई दिनों से चल रही है. राज्य सरकार की तरफ से एयरपोर्ट से लेकर नामकुम के सदाबहार चौक तक सिक्स लेन सड़क को भी मंजूरी दे दी गयी है. साथ ही साथ रनवे के विस्तार का काम भी प्रस्तावित योजनाओं में शामिल है.

300 एकड़ भूमि के हस्तांतरण को लेकर एमओए जल्द

राज्य सरकार भी चाहती है कि बिरसा मुंडा एयरपोर्ट के विस्तारीकरण का काम जल्द पूरा हो सके. डॉ रंजन ने बताया कि बिरसा मुंडा एयरपोर्ट के विस्तारीकरण को लेकर तीन सौ एकड़ जमीन भी अब तक भौतिक रूप से अधिग्रहित नहीं की जा सकी है. हालांकि विवादित जमीन को छोड़ अन्य सभी रैयतों को इसके लिए उचित मुआवजे की राशि दे दी गयी है. झारखंड सरकार के साथ एक रुपये के टोकन मनी पर एयरपोर्ट के लिए 300 एकड़ जमीन दिये जाने पर मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट (एमओए) किया जायेगा. इसका प्रारूप तैयार कर लिया गया है.

दुबई, हांगकांग, सिंगापुर के लिए सीधी विमान सेवा जल्द

डॉ रंजन ने बताया कि रांची से दुबई, संयुक्त अरब अमिरात, हांगकांग, सिंगापुर और अन्य विदेशी शहरों के लिए जल्द सीधी विमान सेवा शुरू होगी. उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट अथोरिटी के इस प्रस्ताव पर केंद्रीय विदेश मंत्रालय और संबंधित देशों के राजनयिकों से बातचीत भी चल रही है. उन्होंने कहा कि रांची एयरपोर्ट पर कौन सा अंतरराष्ट्रीय विमान आयेगा. इसके लिए भी सेक्टर और रूट तय किये जा रहे हैं. इस सुविधा के बाद से रांची के यात्रियों को कोलकाता अथवा नयी दिल्ली होकर उड़ान भरने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

इसे भी पढ़ें – राजधानी का सबसे ऊंचा अपार्टमेंट बना है पहनई जमीन पर, हाई कोर्ट ने एसएआर कोर्ट के आदेश पर फैसला सुरक्षित रखा

इसे भी पढ़ें – बोकारो में करीब 10 करोड़ के तेल का खेल, जांच रिपोर्ट दबा दी गयी, मंत्री ने रिकॉर्ड मंगाकर शुरू की जांच

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: