JharkhandRanchi

#Ranchi: जिले में राशन कार्ड के कुल 89479 आवेदन लंबित, फर्जी राशन कार्डों की होगी जांच

  • जांच के बाद फर्जी राशन कार्डों को किया जायेगा रद्द
  • उप विकास आयुक्त ने सम्बन्धित पदाधिकारियों के साथ की बैठक

Ranchi: रांची जिले में सुषुप्त एवं डुप्लीकेट राशन कार्ड की जांच की जायेगी. इसे लेकर शुक्रवार को समाहरणालय, ब्लॉक ए स्थित कमरा संख्या 207 में उप विकास आयुक्त आनंद मित्तल ने बैठक की.

बैठक में विशिष्ट अनुभाजन पदाधिकारी, जिला शिक्षा अधीक्षक, जिले के सभी सहायक जिला आपूर्ति पदाधिकारी, विपणन पदाधिकारी, सभी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी उपस्थित थे.

बैठक में उप विकास आयुक्त अनन्य मित्तल ने प्रत्येक प्रखंड में डुप्लीकेट राशन कार्डधारी लाभुकों एवं सुषुप्त राशन कार्ड धारी लाभुकों के सत्यापन के बाद कार्ड रद्द करने की कार्रवाई सुनिश्चित करने का निदेश दिया.

बैठक में उप विकास आयुक्त ने बताया कि रांची जिला में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत आच्छादित होने वाले लाभुकों की अधिकतम संख्या पूर्व से भारत सरकार द्वारा निर्धारित है, जिसमें वृद्धि नहीं की जा सकती.

advt

इसलिए छूटे हुए गरीब पात्र लाभुकों को राशन कार्ड उपलब्ध कराने के लिए जिले में डुप्लीकेट एवं सुषुप्त राशन कार्ड धारी लाभुकों को सूची से हटाया जाना आवश्यक है.

इसे भी पढ़ें – नयी एडवाइजरी की वजह से पता नहीं महाराष्ट्र के किस स्टेशन में फंसे हैं झारखंड के 1500 मजदूर :  हेमंत

रांची जिला में 89479 नये राशन कार्ड के आवेदन लंबित

रांची जिला में नए राशन कार्ड के कुल 89479 आवेदन लंबित है जबकि 42684 संदिग्ध डुप्लीकेट यूआईडी वाले राशन कार्ड धारी लाभुक हैं.

साथ ही 5050 वैसे राशन कार्ड धारी हैं जिनके द्वारा पिछले 6 महीने से राशन का उठाव नहीं किया गया है.

जिला शिक्षा अधीक्षक को जिले के सभी पीडीएस दुकान पर प्रधानाध्यापक/शिक्षक की प्रतिनियुक्ति करने का निदेश पूर्व में दिया गया था.

बैठक में जिला शिक्षा अधीक्षक को किसी प्रतिनियुक्त प्राध्यापक/शिक्षक का स्थानांतरण होने पर अपने स्तर से आवश्यक संशोधित आदेश निर्गत करने को कहा गया.

जांच संपन्न करने के क्रम में संबंधित डुप्लीकेट, सुषुप्त,  अपात्र राशन कार्ड धारी के हस्ताक्षर या अंगूठे का निशान भी जांच प्रतिवेदन प्रपत्र पर प्राप्त किया जायेगा.

साथ ही जांच प्रतिवेदन पर संबंधित जन वितरण प्रणाली दुकानदार का हस्ताक्षर भी लिया जायेगा.

विभिन्न पीडीएस दुकानों में जांच के बाद प्रतिनियुक्त प्रधानाध्यापक, शिक्षक जांच प्रतिवेदन संबंधित पदाधिकारियों को सौंपेंगे, जिसके बाद सभी सहायक जिला आपूर्ति पदाधिकारी, पदाधिकारी, प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी राशन कार्ड रद्द करेंगे.

इसे भी पढ़ें – #Corona: 22 मई को 5 जिलों से मिले कुल 22 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज, झारखंड में संक्रमण के केस हुए 330

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: