JharkhandLead NewsRanchi

अब भी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष हैं रामेश्वर उरांव, जानें राजेश ठाकुर ने क्यों कही यह बात

Ranchi : प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में सोमवार को खूब चहल पहल दिखी. खास यह था कि पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और मंत्री रामेश्वर उरांव ने नये अध्यक्ष राजेश ठाकुर को औपचारिक तौर पर नयी जिम्मेदारी देने के लिए कोरम पूरा कराया. पदभार ग्रहण कराते और श्री ठाकुर को बधाई देते हुए रामेश्वर उरांव ने कहा कि वे पार्टी को अच्छी तरह से चलायेंगे. श्री ठाकुर छोटे भाई और पुराने कांग्रेसी हैं. पार्टी को वे जरूर मजबूती देंगे. इसी दौरान राजेश ठाकुर ने कहा कि भले अब वे प्रदेश अध्यक्ष बनाये गये हैं पर व्यक्तिगत तौर पर वे रामेश्वर उरांव को ही असली प्रदेश अध्यक्ष मानते रहेंगे. इनके सानिध्य में काम करेंगे. इस दौरान मंत्री बन्ना गुप्ता, प्रवक्ता राजेश रंजन सहित अन्य नेता भी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें – जमीन विवाद में 2 अगस्त को हुआ था झगड़ा, एसटी का सर्टिफिकेट बनवाकर 27 दिन बाद दर्ज कराया मामला

अधूरे कार्यों को करना है पूरा

Catalyst IAS
ram janam hospital

राजेश ठाकुर के मुताबिक पार्टी को आगे बढ़ाने में रामेश्वर उरांव का सान्निध्य महत्वपूर्ण रहेगा. संगठन के जो भी काम अधूरे पड़े हैं, उनको पूरा किया जायेगा. जल्द ही बीस सूत्री कमेटी का गठन भी किया जाना है. इसके लिए फार्मूला तैयार है. सभी जिले से नाम मंगवा लिये गये हैं. बस नामों पर बैठ कर चर्चा करनी है. पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को साथ लेकर चलने का इरादा है.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इशारे-इशारे में नसीहत

कुछ दिनों पहले जब राजेश ठाकुर को प्रदेश अध्यक्ष की जवाबदेही पार्टी आलाकमान ने दी तो उसके बाद तमाम कांग्रेसियों ने उन्हें बधाईयां दीं. दिल्ली से रांची लौटने पर भी कई नेता एयरपोर्ट से लेकर प्रदेश कार्यालय तक श्री ठाकुर से मिले. स्वागत समारोह में उपस्थिति दर्ज करायी. पर इस सीन में रामेश्वर उरांव, बन्ना गुप्ता, आलमगीर आलम नजर नहीं आये थे. सोमवार को रामेश्वर औऱ बन्ना ने पार्टी कार्यालय में मुबारकबाद दी.

नये अध्यक्ष के स्वागत के दौरान रामेश्वर ने कहा- क्यों दुखी होते हो, तुम्हारा क्या था. जो कल था दूसरे का, वह आज तुम्हारा है. आज जो तुम्हारा है, वह कल दूसरे का होगा, परसों तीसरे का होगा. इस पर वहां कार्यकर्ताओं के बीच इशारों में ही चर्चा होती रही कि इस बहाने से रामेश्वर ने राजेश को नसीहत दे दी है.

इसे भी पढ़ें – कृष्ण जन्माष्टमी विशेष : 136 वर्ष पुराने श्री बंशीधर नगर मंदिर में 1280 किलो सोने से बनी  है भगवान कृष्ण की मूर्ति, रोचक है इतिहास

Related Articles

Back to top button