न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रामविलास पासवान की बेटी सीता पासवान ने उन्हीं के खिलाफ दिया धरना, कहा- माफी मांगें पिता

2,013

NEW DELHI:  लोक जनशक्ति पार्टी के मुखिया और केंद्रीय मंत्री रामविलास को राजद नेता राबड़ी देवी पर टिप्पणी करना महंगा पड़ गया है. रामविलास के खिलाफ उनकी ही बेटी आशा पासवान ने मोर्चा खोल दिया है. और अपने पिता से माफी मांगने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गयी हैं. गौरतलब है कि रामविलास बिहार में आगामी लोकसभा चुनाव जदयू और भाजपा के साथ मिलकर लड़ने जा रहे हैं. पासवान ने दो दिन पहले शुक्रवार को, एक प्रेस कान्फ्रेंस में केंद्र सरकार द्वारा 10 फीसदी सवर्ण आरक्षण का विरोध करने को लेकर आरजेडी की आलोचना की थी. प्रेस कांफ्रेस में पासवान ने बिना किसी का नाम लिये कहा था कि “वे (राजद) सिर्फ नारेबाजी करते हैं और एक अंगूठाछाप को मुख्यमंत्री बनाते हैं.” बता दें कि 1997 में राजद प्रमुख लालू प्रसाद को चारा घोटाला के मामले में गिरफ्तार किया गया था. लालू प्रसाद तब बिहार के मुख्यमंत्री थे. जेल जाने से पहले उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर अपनी पत्नी राबडी देवी को मुख्यमंत्री की कमान सौंप दी थी. जिन्होंने बहुत कम शिक्षा प्राप्त की है.

मेरी मां भी अनपढ़ थीः सीता पासवान 

आशा ने अपने पिता का कटाक्ष करते हुए कहा,  उनके पिता ने यह बयान देकर राबड़ी देवी को अपमानित किया है. इससे पूरा महिला समाज आहत हुआ है. उन्हें इस तरह से नहीं बोलना चाहिए था. सीता पासवान ने शिकायत करते हुए कहा, ‘मेरी मां भी अनपढ़ थीं, जिसके कारण पिता (पासवान) ने उन्हें छोड़ दिया. आपको बता दें कि आशा पासवान रामविलास की पहली पत्नी राजकुमारी देवी की बेटी हैं. आशा पासवान के पति साधु पासवान ने पिछले साल आरजेडी की सदस्यता ले ली थी. उस समय साधु पासवान ने कहा था कि आरजेडी अगर उन्हें टिकट देता है तो वे हाजीपुर लोकसभा सीट से रामविलास के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः पाक सुप्रीम कोर्ट का आदेश – एक महीने के भीतर दें दंगा पीड़ितों को मुआवजा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: