JharkhandLohardaga

गुमला-लोहरदगा बॉर्डर पर सक्रिय 10 लाख इनामी रविन्द्र गंझू का दस्ता

विज्ञापन

Lohardaga: गुमला-लोहरदगा बॉर्डर पर 10 लाख इनामी रविन्द्र गंझू अपने 15 सदस्यीय दस्ते के साथ सक्रिय है. जहां 10 लाख का इनामी नक्सली गंझू लोकसभा चुनाव के दौरान नुकसान पहुंचाने की नीयत से किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में है.

वहीं सुरक्षाबल रविन्द्र गंझू के दस्ते को पकड़ने के लिए पुलिस सर्च अभियान चला रही है. ज्ञात हो कि कई बार रविन्द्र गंझू के दस्ते और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ भी हो चुकी है.

जानें आखिर क्यों बदरंग रहेगी झारखंड के होम गार्ड, पारा शिक्षक, जल सहियाओं की होली

advt

मुठभेड़ में कई बार बच निकला रविन्द्र गंझू

लोहरदगा और गुमला के सीमावर्ती जंगलों में सुरक्षाबल और रविन्द्र गंझू के दस्ते के साथ पिछले तीन महीने के दौरान चार बार मुठभेड़ हो चुकी है. इन मुठभेड़ में पुलिस को भारी पड़ता देख रविन्द्र गंझू अपने दस्ते के लोगों के साथ घने जंगलों का फायदा उठा कर भागने में कामयाब रहा है.

इस दस्ते पर कार्रवाई को लेकर सुरक्षाबलों के द्वारा लगातार सर्च अभियान चलाया जा रहा, लेकिन हर बार सुरक्षाबलों को चकमा देकर भागने में सफल रहा.

पुलिस ने जब्त की थी गंझू की संपत्ति

28 नवंबर 2018 को लातेहार के चंदवा में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए नक्सली कमांडर रवीन्द्र गंझू की संपत्ति जब्त कर ली थी. पुलिस ने बांझीटोला गांव स्थित सबजोनल कमांडर की दो एकड़ जमीन पर जब्ती बोर्ड लगा दिया था.

इसे भी पढ़ेंःरांचीः गला घोंटकर युवती की हत्या, सामूहिक दुष्कर्म के बाद मर्डर की आशंका

adv

मजिस्ट्रेट सह सीओ मुमताज अंसारी के नेतृत्व में ये कार्रवाई हुई थी. रवीन्द्र गंझू दस लाख का इनामी नक्सली है. जानकारी के मुताबिक, महानिदेशक एवं पुलिस महानिरीक्षक, रांची के आदेश पर माओवादी रवीन्द्र गंझू की जमीन को पुलिस ने जब्त किया था.

चुनाव को लेकर लगातार चलाया जा रहा सर्च अभियान

लोकसभा चुनाव के दौरान जहां नक्सली संगठन चुनाव कार्य में लगे सुरक्षा बल और पोलिंग पार्टी को नुकसान पहुंचाने की फिराक में हैं. तो वहीं सुरक्षा बलों के द्वारा लगातार सर्च अभियान चलाकर विस्फोटक बरामद किया जा रहा है. और नक्सलियों कि धड़पकड़ का प्रयास किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंः योगी सरकार के दो सालः पटरी पर लौटी कानून-व्यवस्था, 73 अपराधी ढेर- सीएम

चुनाव के दौरान सुरक्षा बल और पोलिंग पार्टी को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से नक्सलियों के द्वारा सुरक्षा बल के गुजरने वाले रास्ते पर लैंड माइंस लगाने की संभावना को लेकर सुरक्षाबलों के द्वारा लगातार लैंड माइंस की खोज की जा रही है. और जहां पर भी लैंडमाइंस बरामद होता है उसे सुरक्षा बल डिफ्यूज भी कर रही है.

भाकपा माओवादी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर चुनाव के बहिष्कार का किया ऐलान

लोकसभा चुनाव के नजदीक आते ही नक्सलियों ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है. जहां लगातार नक्सली और पुलिस आमने-सामने हो रहे हैं.

माओवादी चुनाव में जहां किसी घटना को अंजाम देने की फिराक में है तो वहीं भाकपा माओवादी के कोयल शंख जोनल कमेटी के प्रवक्ता शिवनंदन भगत ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए आगामी लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया है.

इसे भी पढ़ेंःअनिल अंबानी को जेल जाने से मुकेश ने बचाया, मदद के लिए भैया-भाभी को कहा शुक्रिया

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button