Khas-KhabarNational

RajyaSabha: आठ सांसदों का निलंबन रद्द करने की मांग पर अड़ा विपक्ष, नहीं तो कार्यवाही का बहिकार

सभापति ने विपक्ष से फैसले पर फिर से विचार करने और कार्यवाही में शामिल होने का आग्राह किया है.

New Delhi: कृषि बिल और विपक्ष के आठ सांसदों के निलंबन को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष आमने-सामने है. विपक्ष सांसदों के निलंबन वापसी पर अड़ा है. राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने मंगलवार को कहा कि जब तक उच्च सदन के आठ सदस्यों का, मॉनसून सत्र की शेष अवधि से निलंबन वापस नहीं लिया जाता तब तक विपक्ष कार्यवाही का बहिष्कार करेगा. वहीं सभापति वेंकैया नायडू ने विपक्ष से फैसले पर फिर से विचार करने और कार्यवाही में शामिल होने का आग्राह किया है.

इसे भी पढ़ेंः राज्यसभाः कल से धरने पर बैठे निलंबित 8 सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे उपसभापति, खुद उपवास पर हरिवंश

निलंबन वापसी की मांग

शून्यकाल के बाद आजाद ने उच्च सदन में यह भी मांग की कि सरकार को ऐसा विधेयक लाना चाहिए जो यह सुनिश्चित करे कि निजी कंपनियां सरकार द्वारा तय न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से कम दाम में किसानों का अनाज न खरीदें.


उन्होंने सरकार से कहा कि सरकार को स्वामीनाथन फार्मूले के अनुसार, समय-समय पर न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करते रहना चाहिए. आजाद ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार के अंतर तालमेल का अभाव है. एक दिन पहले ही कृषि विधेयकों पर पूरी चर्चा एमएसपी पर केंद्रित रही और उसके एक दिन बाद सरकार ने कई फसलों के लिए एमएसपी की घोषणा कर दी. वहीं विपक्ष के सांसदों पर हुई कार्रवाई को रद्द करने की भी मांग गुलामनबी आजाद ने की.

वहीं राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने विपक्ष से इस फैसले पर दोबारा विचार करने का आग्राह किया है. वेंकैया नायडू ने विपक्षी नेताओं से पुनर्विचार, आत्मनिरीक्षण, सदन में चर्चा में भाग लेने के लिए लौटने का आग्रह किया

इसे भी पढ़ेंः सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे हरिवंश, तारीफ में बोले पीएम- बिहार लोकतंत्र का पाठ सिखाता रहा है

बाहर धरने पर निलंबित सांसद

इधर सभापति द्वारा किये गये कार्रवाई के खिलाफ सोमवार से ही निलंबित सांसद संसद परिसर में डटे हैं. सभी सांसद महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास धरने पर बैठे हैं. इनका धरना बीती रात भी जारी रहा. सभी आठों सांसद निलंबन वापसी और कृषि बिल को वापस लिये जाने की मांग पर अड़े हैं.

उल्लेखनीय है कि रविवार को सदन में अमर्यादित आचरण करने को लेकर तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन और आप के संजय सिंह सहित विपक्ष के आठ सदस्यों को सोमवार को मॉनसून सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित कर दिया गया.
निलंबित किए गए सदस्यों में कांगेस के राजीव सातव, सैयद नजीर हुसैन और रिपुन बोरा, तृणमूल के ब्रायन और डोला सेन, माकपा के केके रागेश और इलामारम करीम व आप के संजय सिंह शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंः सुशील श्रीवास्तव हत्याकांड के दोषियों की सजा आज होगी तय, विकास तिवारी समेत पांच पाये गये हैं दोषी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: