National

राज्यसभा :  चुनाव आयोग की अधिसूचना से कांग्रेस परेशान,  गुजरात में बिगड़ जायेगा गेम, SC जा सकती है कांग्रेस

NewDelhi : चुनाव आयोग ने राज्यसभा की खाली हुई छह सीटों पर पांच जुलाई को चुनाव कराने की घोषणा की है.  शनिवार को इसके लिए अधिसूचना जारी की गयी. आयोग ने भले चुनाव की तिथि एक ही रखी है, लेकिन हर सीट के चुनाव के लिए अधिसूचना अलग से जारी की गयी. इसका सीधा नुकसान  कांग्रेस को गुजरात में होगा.  गुजरात की दो सीटों के चुनाव पर  असर पड़ेगा.    हर सीट के चुनाव के लिए अलग नोटिफिकेशन पर कांग्रेस ने आपत्ति जताई है. खबर है कि  वह सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगा सकती है. बता दें कि गुजरात में अमित शाह और स्मृति ईरानी के लोकसभा में चुने जाने पर दोनों की राज्यसभा सीट खाली हो गयी  है.

Jharkhand Rai
इसे भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ पुलिस ने बिस्किट कारखाने से 26 बाल मजदूरों को मुक्त कराया , झारखंड के बच्चे भी शामिल  

   अलग-अलग अधिसूचना क्यों?

अमित शाह को लोकसभा चुनाव जीतने का प्रमाणपत्र 23 मई को ही मिल गया था, जबकि स्मृति इरानी को 24 मई को मिला. इससे दोनों के चुनाव में एक दिन का अंतर हो गया.  इसी आधार पर आयोग ने राज्य की दोनों सीटों को अलग-अलग माना है, लेकिन चुनाव एक ही दिन होंगे.ऐसा होने से अब दोनों सीटों पर भाजपा जीत जायेगी,  क्योंकि वहां प्रथम वरीयता वोट नये सिरे से तय होंगे.  अगर एक साथ चुनाव होते तो कांग्रेस एक सीट पर जीत जाती.

इसे भी पढ़ेंः बिहार में जानलेवा हुई गर्मीः सूबे में 48 लोगों की गयी जान-कई इलाजरत, सीएम ने जताई संवेदना

कांग्रेस रहेगी नुकसान में

गुजरात की दोनों सीटों पर अगर एक साथ एक ही बैलट पेपर पर चुनाव होते तो कांग्रेस को उसपर जीत मिल सकती है.   विधायकों की संख्या के हिसाब से अगर चुनाव अलग-अलग बैलट पर होंगे, तो  भाजपा जीत जायेगी.   गुजरात में राज्य सभा का चुनाव जीतने के लिए उम्मीदवार को 61 वोट चाहिए.  एक ही बैलट पर चुनाव से उम्मीदवार एक ही वोट डाल पायेगा.

Samford

इस स्थिति में कांग्रेस एक सीट आसानी से निकाल लेती,  क्योंकि उसके पास 71 विधायक हैं.  लेकिन चुनाव आयोग की नोटिफिकेशन के अनुसार विधायक अलग-अलग वोट करेंगे.  ऐसे में उन्हें दो बार वोट करने का मौका मिलेगा. ऐसे में भाजपा के विधायक जिनकी संख्या 100 से ज्यादा है,  दो बार वोट करके दोनों उम्मीदवारों को जितवा सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःदर्द-ए-पारा शिक्षक: गर्मी की छुट्टियों में दूसरे के घरों की मरम्मत कर चलाना पड़ा परिवार

भाजपा एस जयशंकर को राज्यसभा भेजेगी

कांग्रेस गुजरात से पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को दोबारा राज्यसभा भेजना चाहती थी. उनका टर्म समाप्त हो गया है, लेकिन जिस तरह से कार्यक्रम तय हुए हैं, उस हिसाब से कांग्रेस के लिए स्थिति कठिन हो गयी है.  लेकिन चुनाव आयोग का कहना है कि पूर्व में भी ऐसे मामले आये हैं, जब इस तरह से चुनाव हुए हैं. खबर है कि  गुजरात की दो सीटों में से एक सीट पर  भाजपा विदेश मंत्री एस. जयशंकर को राज्यसभा भेजेगी. जिन छह सीटों पर चुनाव होंगे, उनमें गुजरात की दो सीटों के अलावा बाकी चार सीट में एक बिहार से है, जहां से रामविलास पासवान  राज्यसभा जा सकते हैं. अन्य तीन सीट ओडिशा से हैं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: