न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्यसभा :  चुनाव आयोग की अधिसूचना से कांग्रेस परेशान,  गुजरात में बिगड़ जायेगा गेम, SC जा सकती है कांग्रेस

आयोग ने भले चुनाव की तिथि एक ही रखी है, लेकिन हर सीट के चुनाव के लिए अधिसूचना अलग से जारी की गयी. इसका सीधा नुकसान  कांग्रेस को गुजरात में होगा.

87

NewDelhi : चुनाव आयोग ने राज्यसभा की खाली हुई छह सीटों पर पांच जुलाई को चुनाव कराने की घोषणा की है.  शनिवार को इसके लिए अधिसूचना जारी की गयी. आयोग ने भले चुनाव की तिथि एक ही रखी है, लेकिन हर सीट के चुनाव के लिए अधिसूचना अलग से जारी की गयी. इसका सीधा नुकसान  कांग्रेस को गुजरात में होगा.  गुजरात की दो सीटों के चुनाव पर  असर पड़ेगा.    हर सीट के चुनाव के लिए अलग नोटिफिकेशन पर कांग्रेस ने आपत्ति जताई है. खबर है कि  वह सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगा सकती है. बता दें कि गुजरात में अमित शाह और स्मृति ईरानी के लोकसभा में चुने जाने पर दोनों की राज्यसभा सीट खाली हो गयी  है.

इसे भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ पुलिस ने बिस्किट कारखाने से 26 बाल मजदूरों को मुक्त कराया , झारखंड के बच्चे भी शामिल  

   अलग-अलग अधिसूचना क्यों?

अमित शाह को लोकसभा चुनाव जीतने का प्रमाणपत्र 23 मई को ही मिल गया था, जबकि स्मृति इरानी को 24 मई को मिला. इससे दोनों के चुनाव में एक दिन का अंतर हो गया.  इसी आधार पर आयोग ने राज्य की दोनों सीटों को अलग-अलग माना है, लेकिन चुनाव एक ही दिन होंगे.ऐसा होने से अब दोनों सीटों पर भाजपा जीत जायेगी,  क्योंकि वहां प्रथम वरीयता वोट नये सिरे से तय होंगे.  अगर एक साथ चुनाव होते तो कांग्रेस एक सीट पर जीत जाती.

इसे भी पढ़ेंः बिहार में जानलेवा हुई गर्मीः सूबे में 48 लोगों की गयी जान-कई इलाजरत, सीएम ने जताई संवेदना

कांग्रेस रहेगी नुकसान में

Related Posts

सीबीआई ने एनडीटीवी के संस्थापक प्रणॉय राय, राधिका रॉय के खिलाफ नया केस दर्ज किया   

सीबीआई ने उन पर प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के नियमों के उल्लंघन मामले में यह केस दर्ज किया है.

SMILE

गुजरात की दोनों सीटों पर अगर एक साथ एक ही बैलट पेपर पर चुनाव होते तो कांग्रेस को उसपर जीत मिल सकती है.   विधायकों की संख्या के हिसाब से अगर चुनाव अलग-अलग बैलट पर होंगे, तो  भाजपा जीत जायेगी.   गुजरात में राज्य सभा का चुनाव जीतने के लिए उम्मीदवार को 61 वोट चाहिए.  एक ही बैलट पर चुनाव से उम्मीदवार एक ही वोट डाल पायेगा.

इस स्थिति में कांग्रेस एक सीट आसानी से निकाल लेती,  क्योंकि उसके पास 71 विधायक हैं.  लेकिन चुनाव आयोग की नोटिफिकेशन के अनुसार विधायक अलग-अलग वोट करेंगे.  ऐसे में उन्हें दो बार वोट करने का मौका मिलेगा. ऐसे में भाजपा के विधायक जिनकी संख्या 100 से ज्यादा है,  दो बार वोट करके दोनों उम्मीदवारों को जितवा सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःदर्द-ए-पारा शिक्षक: गर्मी की छुट्टियों में दूसरे के घरों की मरम्मत कर चलाना पड़ा परिवार

भाजपा एस जयशंकर को राज्यसभा भेजेगी

कांग्रेस गुजरात से पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को दोबारा राज्यसभा भेजना चाहती थी. उनका टर्म समाप्त हो गया है, लेकिन जिस तरह से कार्यक्रम तय हुए हैं, उस हिसाब से कांग्रेस के लिए स्थिति कठिन हो गयी है.  लेकिन चुनाव आयोग का कहना है कि पूर्व में भी ऐसे मामले आये हैं, जब इस तरह से चुनाव हुए हैं. खबर है कि  गुजरात की दो सीटों में से एक सीट पर  भाजपा विदेश मंत्री एस. जयशंकर को राज्यसभा भेजेगी. जिन छह सीटों पर चुनाव होंगे, उनमें गुजरात की दो सीटों के अलावा बाकी चार सीट में एक बिहार से है, जहां से रामविलास पासवान  राज्यसभा जा सकते हैं. अन्य तीन सीट ओडिशा से हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: