National

लड़ाकू विमान तेजस से राजनाथ सिंह ने भरी उड़ान, पायलटों का बढ़ाया मनोबल

New Delhi : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को बेंगलुरु स्थित एचएएल हवाईअड्डे से तेजस लड़ाकू विमान में उड़ान भरी. इसी के साथ वह हल्के लड़ाकू विमान में उड़ान भरने वाले पहले रक्षा मंत्री बन गये.

उल्लेखनीय है कि तेजस को तीन साल पहले वायु सेना में शामिल किया गया था. अब तेजस का अपग्रेड वर्जन भी आने वाला है. राजनाथ सिंह ने तेजस में सुबह 10 बजे उड़ान भरी थी. जिसके बाद 10.30 बजे उन्होंने वापस लैंड किया.

इसे भी पढ़ें- मैं काम करना चाह रहा था, लेकिन कुछ विभाग में फाइल बढ़ती ही नहीं, आखिर फाइल चलती क्यों नहीः Rtd. IAS अनिल स्वरूप

साथ थे एयर वाइस मार्शल एन तिवारी 

राजनाथ के साथ एयर वाइस मार्शल एन तिवारी भी थे. तिवारी बेंगलुरू में एयरोनॉटिकल डवल्पमेंट एजेंसी (एडीए) के नेशनल फ्लाइट टेस्ट सेंटर में परियोजना निदेशक हैं.

रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने बुधवार को बताया था कि स्वदेश में निर्मित तेजस के विकास से जुड़े अधिकारियों का हौसला बढ़ाने के उद्देश्य से रक्षा मंत्री इस हल्के लड़ाकू विमान में उड़ान भरेंगे.

अधिकारी ने बताया था कि उनके इस कदम से भारतीय वायु सेना के उन पायलटों का मनोबल भी बढ़ेगा जो यह विमान उड़ा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- ई-सिगरेट पर मोदी सरकार ने लगाया बैन, कानून तोड़ने पर सजा का भी प्रावधान

तेजस की खूबियां

  • तेजस हवा से हवा में मिसाइल दागने के साथ-साथ हवा से जमीन पर भी मिसाइल दाग सकता है.
  • तेसज में बम, रॉकेट और एंटीशिप मिसाइल भी लगाये जा सकते हैं.
  • यह सिंगल सीटर पायलट विमान है. लेकिन इसका ट्रेनर वेरिएंट 2 सीटर है.
  • तेजस 42% कार्बन फाइबर, 43% एल्यूमीनियम एलॉय और टाइटेनियम से बनाया गया है.
  • करीब 3500 बार उड़ान भर चुका है तेजस.
  • एक बार में 54 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है तेजस.
  • इसको विकसित करने की कुल लागत सात हजार करोड़ रही है.

Related Articles

Back to top button