न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

राजीव गांधी भारत रत्न विवाद में बैकफुट पर आप, सिसोदिया की सफाईःलांबा से नहीं मांगा इस्तीफा

2,005

New Delhi: सिख विरोधी दंगे को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने का प्रस्ताव दिल्ली सरकार के लिए गले की हड्डी बनता दिख रहा है. आप सरकार इस मसले पर जहां बैकफुट पर नजर आ रही है. वही दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सफाई देते हुए कहा है कि अलका लांबा से इस्तीफा नहीं मांगा गया है. आम आदमी पार्टी ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके कहा कि उन्होंने अलका लांबा के इस्तीफे की मांग नहीं की है. उन्होंने कहा कि पार्टी केवल 1984 सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों के लिए इंसाफ चाहती है.

eidbanner

बैकफुट पर सरकार

पूरे मामले में होती किरकिरी के बाद आप ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी बात रखी. के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और सौरभ भारद्वाज ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘जो प्रस्ताव सदन में पेश किया गया था उसमें राजीव गांधी वाली बात नहीं थी. यह प्रस्ताव पढ़ते समय जरनैल सिंह ने राजीव गांधी के नाम वाला प्रस्ताव अपनी तरफ से रखा था.

वही मनीष सिसोदिया ने पार्टी द्वारा विधायक अलका लांबा से इस्तीफा मांगे जाने की बात को सिरे से नकार दिया. उन्होंने हम ऐसा करने में विश्वास नहीं करते कि राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लिया जाए. साथ ही किसी तरह का कोई इस्तीफा भी नहीं हुआ है.
वहीं दिल्ली विधानसभा में प्रस्ताव पढ़ने वाले विधायक जरनैल सिंह ने अपनी सफाई में कहा, ‘राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लिए जाने का कोई भी प्रस्ताव वास्तविक प्रस्ताव में शामिल नहीं था. प्रस्ताव को पढ़ते हुए जो मैंने कहा वह मेरी सोच थी.

कांग्रेस का तीखा हमला

Related Posts

बंगाल को तरजीह, सांसद अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में कांग्रेस के नेता होंगे

अधीर रंजन चौधरी के साथ-साथ केरल के नेता के सुरेश, पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी और तिरुवनंतपुरम के सांसद शशि थरूर इस पद के लिए दौड़ में शामिल थे.

वहीं पूरे मामले को लेकर कांग्रेस ने आप पर तीखा हमला किया है. कांग्रेस नेता अजय माकन ने आप पर निशाना साधते हुए कहा कि राजीव गांधी ने देश के लिए अपना जीवन बलिदान किया है, बीजेपी ने भी कभी उनसे भारत रत्न वापस लिए जाने की मांग नहीं उठाई. साथ ही केजरीवाल से पूरे मसले पर माफी मांगने को कहा. इसके अलावे सदन में कार्यवाही के दौरान पेश हुए प्रस्ताव के उस हिस्से को भी निकालने की मांग की.

इसे भी पढ़ेंःसेवा में बने रह सकते हैं अपर मुख्य सचिव खंडेलवाल, वीआरएस से पहले गये छुट्टी पर

इसे भी पढ़ेंः मिनिमम बैलेंस न होने पर साढ़े तीन सालों में सरकारी बैंकों ने ग्राहकों से वसूले 10 हजार करोड़

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: