न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राजेंद्र सिंह ने फैलायी अफवाह, कहा- इंटक का उनसे कोई संपर्क नहीं : ददई दुबे

338

Ranchi : इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (इंटक) में विवाद फिर से खुल कर सामने आ गया है. इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर प्रसाद दुबे उर्फ ददई दुबे ने राजेंद्र सिंह गुट के साथ होने वाले विलय की बात को अफवाह करार दिया है. उन्होंने कहा है कि उनके गुट के साथ हमारा कोई संपर्क नहीं है. वहीं इंटक नेता जे संजीवा रेड्डी पर कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के खिलाफ अपशब्द भाषा का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति खुद को कांग्रेस नेता नहीं मानता हो, जिसने हिंद मजदूर संघ (एच.एम.एस) के साथ मिलने का निर्णय लिया हो, उसके साथ हमारा कोई संपर्क नहीं हो सकता. उन्हें हम अपना नेता कभी नहीं मान सकते. ददई दुबे यह बात रविवार को झारखंड प्रदेश इंटक शाखा कार्यकारिणी समिति की हुई बैठक के दौरान कही. इस दौरान राज्यसभा सांसद धीरज कुमार साहु, पूर्व सांसद और इंटक प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप कुमार बलमुचु, फुरकान अंसारी सहित इंटक से जुड़े कई नेता उपस्थित थे.

रेड्डी ने की थी कांग्रेस अध्यक्षा पर अशब्द टिप्पणी, इंटक साथ नहीं

hosp1

वर्ष 2001 में रांची में हुए इंटक महाधिवेशन की बात करते हुए ददई दुबे ने रविवार को कहा कि जे संजीवा रेड्डी ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के खिलाफ अपशब्द भाषा का प्रयोग किया था. रेड्डी ने कहा था कि “सोनिया हमारी मालिक नहीं है . इंटक हमारा है हम जब चाहेंगे तब कांग्रेस को हराएंगे या जिताएंगे. वो हमारी मर्जी की चीज है”. इसके अलावा जे संजीवा रेड्डी ने अपने इंटक के संविधान में संशोधन कर कांग्रेस पार्टी से अपने इंटक को अलग कर लिया, जिसका वर्णन क्लाउज 2(ए) में वर्णित है. साथ ही रेड्डी ने प्रस्ताव पारित कर अपने आप को हिंद मजदूर संघ (एच.एम.एस) से जोड़ने का भी निर्णय ले लिया है. इसी को ध्यान में रख इंटक कार्यकर्ताओं ने यह फैसला लिया कि जो कांग्रेस पार्टी का नहीं हो सकता, उसके साथ हम नहीं रह सकते.

इंटक का विलय केवल अफवाह मात्र

राजेंद्र सिंह वाले इंटक गुट का ददई गुट से विलय की बात पर विराम लगाते हुए उन्होंने कहा कि यह केवल एक अफवाह मात्र है. राजेंद्र सिंह ने झूठ बोलकर यह अफवाह फैलायी थी कि गत एक अगस्त को कोर्ट के आदेश के बाद इंटक में किसी तरह का कोई विवाद नहीं है. जबकि हकीकत यह है कि कोर्ट में जीत हमारी हुई थी. अब हमारा उनके गुट के साथ कोई संपर्क नहीं है. कांग्रेस अध्यक्षा के खिलाफ अशोभनीय भाषा का प्रयोग करने वाले के साथ हमारा कोई संपर्क नहीं हो सकता. इंटक कार्यकर्ता उन्हें अपना नेता कभी नहीं मानेंगे.

भारत बंद को सफल बनाएगें इंटक कार्यकर्ता

गत 10 अगस्त को कांग्रेस सहित विपक्षी दलों द्वारा बुलाये गए भारत बंद को सफल बनाने की बात भी बैठक में ददई दुबे ने की. उन्होंने कहा कि डीजल पेट्रोल की महंगाई, राफेल डील में महाघोटाला के विरोध में राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारत बंद का आह्वान किया है. इसे सफल बनाने के लिए इंटक कार्यकर्ता बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे, ताकि जनता को लुटने वाली भाजपा सरकार को जड़ से उखाड़कर फेंका जा सके.

रघुवर राज्य में कोई नहीं है सुरक्षित : प्रदीप बलमुचू

मुख्यमंत्री आवास के समक्ष हुई हत्या की निंदा करते हुए पूर्व सांसद प्रदीप बलमुचू ने कहा कि राज्यपाल ने भी अब इसपर चिंता जतायी है. इसे लेकर उन्होंने शनिवार को राज्य के डीजीपी के साथ बैठक भी की थी. भाजपा राज्य में अपराधिक तत्वों को कानून का कोई डर नहीं रह गया है. उनमें अब पुलिस का कोई खौफ नहीं रह गया है. ऐसे में यह समझा जा सकता है कि राज्य में अब आम लोग किस तरह डर के साये में जी रहे हैं. इसी तरह कांग्रेस नेता राजेश गुप्ता उर्फ छोटू पर जानलेवा हमला किया गया. आरोपियों का नाम तक संबंधित थाने में दर्ज किया गया, लेकिन अभी तक सरकार या पुलिस ने इसपर कोई कार्रवाई नहीं की है. ना ही किसी की गिरफ्तारी हो सकी है. उन्होंने कहा कि रघुवर राज्य में अब कोई भी सुरक्षित नहीं रह गया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: