Main SliderNational

राजस्थान में गहलोत सरकार बच गई, कुनबा बचाने के लिए मैदान में उतरीं प्रियंका!

Jaipur: भले ही राजस्थान की गहलोत सरकार बच गई है लेकिन कुनबा को बचाने की कवायद जारी है. यही कारण है कि राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच सचिन पायलट को मनाने के लिए प्रियंका गांधी मैदान में उतर गईं है. बताया जा रहा है कि विवाद को खत्म करने के लिए प्रियंका गांधी खुद उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और सीएम गहलोत से बात कर रही हैं.

ये भी पढ़ें- बच गई गहलोत सरकार! बैठक से पहले शक्ति प्रदर्शन, 102 MLA होने का दावा

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सुबह में जयपुर स्थित कांग्रेस के मुख्यालय से सचिन पायलट के पोस्टर हटा दिए गए थे, लेकिन कहा जा रहा है कि प्रियंका गांधी के आदेश पर फिर से पायलट को पोस्टर लगाए जा रहे हैं. खबर है कि प्रियंका गांधी ने सचिन ने फोन पर बात की हैं और भरोसा दिया है कि उनकी बातों को सुना जाएगा और समस्या का हल निकाला जाएगा.

गौरतलब है कि कांग्रेस का दावा है कि विधायक दल की बैठक में 107 विधायक मौजूद हैं. सीएम अशोक गहलोत मीडिया के कैमरे के सामने विक्ट्री साइन बनाकर दिखाते नजर आए. हालांकि अभी बैठक शुरू नहीं हुई है. बताया जा रहा है कि बैठक शाम में होने की संभावना है.

गौरतलब है कि इस बैठक में सचिन पायलट के अलावा दो और मंत्री नहीं पहुंचे हैं. बताया जा रहा है कि 18 विधायक और पायलट को मिलाकर तीन मंत्री इस बैठक में नहीं पहुंचे हैं. खबर ये भी है कि इस बैठक में पायलट खेमे के माने जाने वाले 5-6 विधायक पहुंचे हैं, लेकिन मंत्री रमेश मीणा और एक मंत्री नहीं पहुंचे हैं.

ये भी पढ़ें- लातेहार: बालूमाथ में कोयला तस्करी मामले को सीआईडी ने किया टेकओवर

खबर ये है कि बीजेपी के साथ बात नहीं बनने के कारण सचिन पायलट के समर्थक 24 विधायकों में से आधे से अधिक लौट गए हैं और विधायक दल की बैठक में शामिल हुए हैं. माना जा रहा है कि इस बैठक में 12 कांग्रेस और 3 निर्दलीय विधायक पायलट के संपर्क में हैं और बैठक में नहीं पहुंचे हैं.

ऐसे में कांग्रेस पार्टी को लग रहा है कि फिलहाल संकट चल गया है लेकिन कुनबा बचाना जरूरी है. अंदरखाने इस बात पर भी चर्चा है कि संकट फिलहाल टल गया है लकिन सरकार को स्थिर रखना है तो किसी कीमत पर सचिन पायलट को मनाना होगा, नहीं तो कभी भी कुछ भी हो सकता है. यही कारण है कि सचिन पायलट को मनाने के लिए प्रियंका गांधी को मैदान में उतारा गया है.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close