न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह आचार संहिता उल्लंघन के दोषी, आयोग ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र

215

New Delhi : राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के लिए मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. यह मुश्किलें उनके लिए इसलिए बढ़ी हैं क्योंकि उन्होंने कार्यकर्ताओं को समझाते हुए यह कहा था कि मोदी को फिर से पीएम बनाना चाहिए. इसके बाद राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के इस बयान को लेकर चुनाव आयोग बेहद सख्त हो गया है. इसकी शिकायत राष्ट्रपति से भी कर दी गई है.

eidbanner

जिसके बाद उन्हें चुनाव आयोग ने आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया है. क्योंकि एक संवैधानिक पद पर होते हुए ऐसी बात कहना आचार संहिता का उल्लंघन है.

इसे भी पढ़ें- फिर भारतीय सीमा में घुसे पाक के F-16 विमान, भारत ने खदेड़ा

चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र

चुनाव आयोग ने राज्यपाल कल्याण सिंह के बयान पर कार्रवाई करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सोमवार रात पत्र लिखा. आयोग ने पत्र में राज्यपाल के बयान की शिकायत की है. चुनाव आयोग ने सोमवार देर शाम इस मुद्दे को लेकर बैठक की. जसके बाद यह फैसला लिया गया कि राष्ट्रपति को इस संबंध में पत्र लिखा जाएगा. पत्र में राष्ट्रपति से इस मामले में समुचित संज्ञान लेने की अपील की गयी है.

इसे भी पढ़ें- मतदाताओं को प्रलोभन देने के लिए छद्म समारोह का आयोजन अपराध : चुनाव आयोग

क्या कहा था

Related Posts

कल्यान सिंह ने 23 मार्च को अलीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत के दौरान यह कहा था कि हर कोई चाहता है कि मोदी की जीत हो और देश के लिए भी यह जरूरी है.

उन्होंने कहा था कि हम सभी लोग बीजेपी कार्यकर्ता हैं इसलिए हम जरूर चाहेंगे कि बीजेपी की जीत हो. मोदी का फिर से प्रधानमंत्री बनना इस देश के लिए बहुत जरूरी है. और यह समाज के लिए भी जरूरी है.

इसे भी पढ़ें- एडीजी स्पेशल ब्रांच अनुराग गुप्ता को आयोग ने हटाया, दिल्ली स्थानिक आयुक्त कार्यालय भेजा

लोगों ने जमकर किया हंगामा

उल्लेखनीय है कि कल्याण के मोदी को पीएम बनाने की बात कहने वाले वीडियो सोशल मीडिया पर भी तेजी से वायरल हुए थे. जिसके बाद लोगों ने राज्यपाल के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी कर प्रदर्शन किया. लोगों ने राज्यपाल का पुतला दहन कर डंडों से भी पीटा.

लोगों ने इसकी शिकायत की. शिकायत मिलते ही चुनाव आयोग ने जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह से जानकारी मांगी. जानकारी मिलते ही आयोग ने सभी तथ्यों की जांच की और इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: