न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज हॉस्पिटल ने चिपकाया नोटिस- आयुष्मान भारत योजना की सुविधा न्यूरो, बर्न, गंभीर मरीजों के लिए नहीं

शिशिर सेवा केंद्र में नहीं मिल रहा आयुष्मान भारत योजना का लाभ, आप ने स्वास्थ्य सचिव को सौंपा ज्ञापन

98

Ranchi: केंद्र सरकार द्वारा जब गरीबों, जरूरतमंदों के मुफ्त इलाज के लिए आयुष्मान भारत योजना की घोषणा की गयी थी, तो देश के साथ-साथ राज्य के भी करोड़ों लोगों में एक उम्मीद जगी थी. लेकिन जैसे-जैसे इस योजना की परेशानी सामने आ रही है, लोग अब इससे दूर भाग रहे हैं. प्राइवेट अस्पतालों में अभी तक यह सुविधा पूरी तरह शुरू नहीं हुई है. प्राइवेट अस्पातल सीधे तौर पर आयुष्मान कार्ड से इलाज करने से इनकार कर रहे हैं. कार्ड होते हुए मरीजों को पैसे देकर ही इलाज कराना पड़ रहा है. इसी तरह की समस्याओं को लेकर आम आदमी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल स्वास्थ्य सचिव नितीन मदन कुलकर्णी से मिला. प्रतिनिधिमंडल ने स्वास्थ्य सचिव से कहा कि आयुष्मान भारत योजना राज्य में पूरी तरह विफल हो रही है. इससे जरूरतमंदों को कोई लाभ नहीं पहुंच रहा है.

आम आदमी पार्टी के सदस्यों ने बताया कि ईस्ट जेल रोड स्थित शिशिर सेवा केंद्र (डॉ अमित मुखर्जी के अस्पताल) में इलाज करा रहे रामजी कुमार गुप्ता को इस योजना का कोई लाभ नहीं मिल रहा है. वहीं राज हॉस्पिटल में आयुष्मान भारत से सम्बंधित एक नोटिस लगा दिया गया है, जिसमे यह साफ-साफ कहा गया है कि हॉस्पिटल में न्यूरो, बर्न,प्लास्टिक एवं क्रिटिकल केयर से संबंधित बीमारियो के लिए आयुष्मान भारत योजना कोई सुविधा नहीं दी जायेगी. इधर सरकार बार-बार यह राग अलाप रही है कि राज्य में जरूरतमंद लोगों को किसी भी प्रकार की बीमारी का नि:शुल्क इलाज किया जायेगा.

गरीब मरीजों की जान के साथ खिलवाड़

आप पार्टी के राजेश कुमार ने कहा कि ये सारी गतिविधियां साफ दर्शाता है कि आयुष्मान भारत योजना झारखंड में पूरी तरह से विफल है. जनता के साथ ये साफ धोखा है और गरीब मरीजों के जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. यह योजना बीमा कंपनियों को फायदा पहुंचाने का एक जरिया बन गया है. सरकार ने तो बीमा कम्पनियों को झारखंड के 57 लाख परिवारों के बीमा के प्रिमियम का पैसा दे दिया. लेकिन निजी अस्पतालों को इलाज करने को नहीं कहा. बीमा कम्पनी को बगैर इलाज करवाये ही प्रीमियम के अरबों रूपये मिल रहे हैं. जनता के पैसे का ये खुलेआम डकैती है. आयुष्मान कार्ड देकर झारखंड के लोगों को सफेद झूठ बोला गया और बेवकूफ बनाकर उनके पीठ में चाकू भोंका गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: