JharkhandRanchi

साहेबगंज से शुरू होगी बारिश, झारखंड-बिहार में 20 जून तक पहुंचेगा दक्षिण पश्चिम मानसून

Ranchi : झारखंड में दक्षिण पश्चिम मानसून अब एक सप्ताह देर से प्रवेश करेगा. शनिवार को दोपहर बाद केरल के तटीय क्षेत्र में मानसून प्रवेश कर गया है. भारतीय मौसम विभाग (आइएमडी) ने भी मानसून के आगमन की खबर को सही बताया है. आइएमडी के निदेशख जनरल मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि केरल के तमाम इलाकों में अच्छी बारिश शुरू हो रही है. इस देरी की वजह से देश के दूसरे हिस्सों में भी मानसून देरी से पहुंचेगा. इधर कोलकाता के अलीपुर स्थित मौसम विभाग के निदेशक जीके दास ने बताया कि बंगाल में मानसून के प्रवेश करने में थोड़ी देरी है. उन्होंने कहा है कि बिहार-झारखंड में 20 जून के आसपास इसके आगमन की संभावना है. इन राज्यों में औसत से कम बारिश का अनुमान है.

इसे भी पढ़ें- कांग्रेस में गुटबाजी चरम पर, महानगर अध्यक्ष कभी थे सुबोधकांत के साथ, अब दिख रहे डॉ अजय कुमार के गुट में

केरल में भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी

केरल में चार दिनों तक औसत से लेकर भारी बारिश होगी. इसके मद्देनजर 12 जिलों में अलर्ट जारी किया गया है. दक्षिण-पश्चिम मानसून ही देश के अधिकांश इलाकों में लगभग चार महीने तक चलने वाली बारिश के मौसम का वाहक माना जाता  है. स्काईमेट ने इस साल 93% और मौसम विभाग ने 96% बारिश की बात कही है. मौसम विभाग ने इस साल मानसून के ‘सामान्य’ रहने  की भविष्यवाणी की है. साथ ही 96 प्रतिशत लॉन्ग पीरियड एवरेज बारिश  का पूर्वानुमान किया है, जो सामान्य से थोड़ी कम बारिश है.

इसे भी पढ़ें- 38 हजार आंगनबाड़ी केंद्रों को चार महीने से नहीं मिला पैसा, बच्चों की खिचड़ी और दलिया पर भी आफत

झारखंड में मानसून को लेकर अनुकूल परिस्थितियां

रांची के मौसम विभाग के निदेशक एसडी कोटाल के अनुसार झारखंड में मानसून की इंट्री 18 जून के बाद जोरदार बारिश के साथ होगी. केरल में एक सप्ताह की देर से मानसून के प्रवेश करने से ऐसा हुआ है. झारखंड में साहेबगंज जिले में मानसून प्रवेश करेगा. इसके बाद अगले पांच दिनों में पूरे राज्य में मानसून सक्रिय होगा. सामान्यत: झारखंड में मानसून 10-12 जून को दस्तक देता है. झारखंड में मानसून को लेकर अनुकूल परिस्थितियां बनी हुई है. इसके गति पकड़ने का पूर्वानुमान लगाया गया है.

इसे भी पढ़ें- राज्य गठन के 18 साल बाद भी पुलिस बल की कमी से जूझ रहा झारखंड, 15 हजार पुलिस की है कमी

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close