Crime NewsJharkhandLead NewsRanchi

रेलवे का ई-टिकट साइट हैक कर 50 करोड़ का चूना लगानेवाला गिरोह पकड़ा गया, जानिए इस गैंग का क्या है झारखंड कनेक्शन

कई राज्यों की पुलिस, सीबीआइ और रेलवे पुलिस को थी तलाश

Ranchi : रेलवे का ई-टिकट साइट हैक करने वाला मोस्टवांटेड हामिद अशरफ को पुलिस ने बेंगलुरु एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया है. जिसका झारखंड से डायरेक्ट कनेक्शन है. हामिद के दो गुर्गों को हजारीबाग रोड से भी गिरफ्तार किया गया है. आरपीएफ और सीबीआई की टीम दुबई से लेकर भारत तक में हामिद की ढूंढ रही थी. इतना ही नहीं कई राज्यों की पुलिस को भी हामिद की तलाश थी.

आरोप है कि हामिद अपने ग्रुप के साथ मिलकर रेलवे ई टिकट साइड हैक करता था. माना जा रहा है कि हामिद अब तक 50 करोड़ रुपये तक की हेराफेरी कर चुका है. रेलवे की ओर से हामिद की गिरफ्तारी के लिए 50 हजार का ईनाम घोषित किया था. हामिद को रेलवे पुलिस ने बेंगलुरु पुलिस की मदद से पकड़ा.

2016 में सीबीआइ ने पकड़ा था

Catalyst IAS
ram janam hospital

हामिद इससे पहले वर्ष 2016 में पहली बार सीबीआई के हत्थे चढ़ा था. जमानत के बाद फिर से रेलवे के ई टिकट का काम शुरू किया था. जिसके बाद से इसकी तलाश पुलिस और रेलवे के साथ सीबीआई लगातार कर रही थी. हामिद ने रेलवे रिजर्वेशन ई -टिकट के लिए बाकायदा रेडमिर्ची और एएनएमएस सॉफ्टवेयर तैयार किया. जिसके जरिये रेलवे की साइट हैक कर टिकट को बुक कर लेता था फिर उसे ब्लैक में बेच देता था. मास्टरमाइंड हामिद ने इस सॉफ्टवेयर के जरिए देश में 1500 एजेंट भी तैयार कर लिए थे. सभी एजेंटों को लॉग इन पासवर्ड देकर ई टिकट बुक कराता था. एवज में सॉफ्टवेयर का महीने का किराया और जो टिकट ब्लैक होते थे उस का कमीशन लिया जाता था.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

Related Articles

Back to top button