Main SliderNational

देश के किसी भी जिले के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने को रेलवे तैयार हैः पीयूष गोयल

New Delhi : देश भर में प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए रेलवे ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की शुरुआत की है. हालांकि इसमें भी आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है. टिकट के पैसे से लेकर ट्रेनों की संख्या तक में विवाद हुआ है.

शनिवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा है कि प्रवासी मजदूरों को बड़ी राहत पहुंचाने के उद्देश्य से भारतीय रेलवे देश के किसी भी जिले से ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेन चलाने को तैयार है.

इसे भी पढ़ें – #CoronaUpdates : रांची और गढ़वा से मिले एक-एक नये कोरोना पॉजिटिव मरीज, राज्य का आंकड़ा पहुंचा 217

जिला कलेक्टर श्रमिकों के नाम नोडल पदाधिकारी के माध्यम से भेजें

इसके लिए जिला कलेक्टर को फंसे हुए श्रमिकों के नाम, व उनके गंतव्य स्टेशन की लिस्ट तैयार कर राज्य के नोडल ऑफिसर के माध्यम से रेलवे को आवेदन करना होगा.

इसका अर्थ यह हुआ कि राज्य की मांग की अनुरूप रेलवे ट्रेन देने को तैयार है. इसके लिए उसे मजदूरों के नाम उपलब्ध कराने होंगे. जो जिला कलेक्टर के माध्यम से तैयार कर राज्य को नोडल पदाधिकारी के द्वारा रेलवे को भेजा जायेगा.

इससे पहले रेल मंत्री ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि कुछ राज्यों ने बहुत कम ट्रेनों की मांग की है. उसमें उन्होंने ब. बंगाल, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और झारखंड का नाम लिया था. इसके जवाब में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पत्र जारी कर कहा था कि राज्य की ओर से 110 ट्रेनों को स्वीकृति दी गयी है.

इसे भी पढ़ें – Lockdown_Effect :  2 लाख मछुआरों पर बिछाया आफत का जाल, 7000 मीट्रिक टन तक घट गया मछली पालन

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close