National

रेलवे बोला- स्पेशल ट्रेनों की अगले सात दिनों के लिए 16.15 करोड़ की 45,000 से अधिक टिकटें की गईं बुक

New Delhi: भारतीय रेलवे ने मंगलवार को बताया कि विशेष ट्रेनों के लिए अभी तक 80 हजार से अधिक यात्रियों ने 16.15 करोड़ रुपये की 45,000 से अधिक टिकटें बुक की हैं.

दिल्ली से मध्य प्रदेश के बिलासपुर के लिए पहली ट्रेन रवाना होने से कुछ घंटे पहले रेलवे ने यह जानकारी दी. इन विशेष ट्रनों की बुकिंग सोमवार शाम छह बजे शुरू हुई थी.

इसे भी पढ़ें- #BJYM के प्रदेश अध्यक्ष अमित सिंह व देवघर जिला अध्यक्ष अभय आनंद झा पर है रेड वारंट, पुलिस नहीं पकड़ती

advt

करीब 82,317 लोग करेंगे यात्रा

रेलवे ने बताया कि अभी तक अगले सात दिन के लिए 16.15 करोड़ रुपये की 45,533 (पीएनआर) बुकिंग की गयी है. इन टिकटों पर करीब 82,317 लोग यात्रा करेंगे.

रेलवे ने सोमवार को 15 विशेष ट्रेनों के लिए दिशा-निर्देश जारी किये थे, जो आज मंगलवार से चलना शुरू होंगी. यात्रियों को अपना भोजन और चादर लाने को कहा गया है और स्वास्थ्य जांच के लिए ट्रेन के रवाना होने के समय से करीब 90 मिनट पहले आने को कहा है. उन्होंने कहा था कि इन यात्रियों के लिए ‘आरोग्य सेतु एप’ डाउनलोड करना भी अनिवार्य होगा.

इसे भी पढ़ें- केरल : तीन रेलवे स्टेशनों पर ‘हवाई अड्डा मॉडल’ की तरह की जाएगी जांच, कोरोना संदिग्ध होने पर स्टेशन से ही भेजा जायेगा अस्पताल

राजधानी ट्रेन जितना होगा किराया

ये रेलगाड़ियां नई दिल्ली और देश के सभी प्रमुख शहरों डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुम्बई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी के बीच चलेंगी.

adv

मंगलवार 12 मई को आठ में से तीन रेलगाड़ियां नई दिल्ली से रवाना होंगी और डिब्रूगढ़, बेंगलुरु और बिलासपुर पहुंचेंगी. हावड़ा, राजेन्द्र नगर (पटना), बेंगलुरु, मुम्बई मध्य और अहमदाबाद से एक-एक रेलगाड़ी रवाना होगी और दिल्ली पहुंचेगी.

लॉकडाउन में चलाये जाने के कारण इन स्पेशल ट्रेनों में सिर्फ वातानुकूलित श्रेणी (एसी-1, एसी-2 और एसी-3) के डिब्बे होंगे, किराया सामान्य राजधानी ट्रेन के अनुरुप होगा.

इसे भी पढ़ें- #Palamu:विशाखापट्टनम से डालटेनगंज आयी स्पेशल ट्रेन, राज्य के 22 जिलों के 1157 प्रवासी मजदूर की वापसी

24 घंटे पहले तक टिकट रद्द करा सकते हैं यात्री

सार्वजनिक परिवहन रेलवे ने कहा था कि इन रेलगाड़ियों में अग्रिम आरक्षण अधिकतम सात दिन के लिए होगा, फिलहाल आरएसी और वेटिंग टिकट जारी नहीं होगा, रेलगाड़ी में टीटीई को किसी का टिकट बनाने की अनुमति नहीं होगी.

भारतीय रेल ने टिकटें रद्द कराने का भी विकल्प दिया है. इस संबंध में उसका कहना है कि यात्री ट्रेन के प्रस्थान से 24 घंटे पहले तक ही टिकट रद्द करा सकते हैं लेकिन टिकट रद्द होने पर कुल किराये का 50 प्रतिशत शुल्क के रूप में काट लिया जाएगा. 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button