न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल में छापेमारी, एसडीओ व सिटी एसपी के नेतृत्व में कार्रवाई

177

Ranchi: बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार में सोमवार तड़के सुबह के 4:00 बजे एसडीओ गरिमा सिंह, सिटी एसपी अमन कुमार के नेतृत्व में छापेमारी अभियान चलाया गया. भारी पुलिस बल की मौजूदगी में जेल के सभी वार्डों में छापेमारी हुई. लेकिन इस दौरान कोई आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं हुई.

बढ़ते अपराध को लेकर कार्रवाई

राजधानी रांची में बढ़ते अपराध के बाद पुलिस सक्रिय हो गई है.राज्य के कई जेलों में पुलिस के द्वारा छापेमारी अभियान चलाया गया. इसी कड़ी में होटवार जेल भी छापेमारी हुई.

hosp3

जेल में हड़कंप

छापेमारी सुबह साढ़े चार बजे से शुरू हुई है. इस जेल में कई वीवीआईपी कैदी भी बंद है. वहीं जब कैदियों को जेल में छापेमारी की सूचना मिली तो कैदियों में हड़कंप मच गया. हालांकि बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार होटवार से कोई आपत्तिजनक वस्तुएं पुलिस के हाथ नहीं लगी.

पुराने अपराधियों से की गई पूछताछ

कई हत्याओं के तार जेल से जुड़े रहते हैं. कुछ ऐसे अपराधी है, जो जेल में बैठे हुए अपने गिरोह की मदद से रंगदारी-हत्या जैसे अपराध को अंजाम दिलवाते हैं. अपराधिक घटनाओं में बढ़ोत्तरी की वजह से बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में छापेमारी अभियान चलाया गया.
हालांकि, कार्रवाई में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला, लेकिन इस दौरान पुराने अपराधियों से पूछताछ की गई. विभिन्न स्रोतों से शिकायत मिल रही थी कि जेल से पुराने अपराधी रंगदारी लूट और हत्या जैसे वारदात को अंजाम देने की प्लानिंग तैयार कर रहे थे. वही सिटी एसपी अमन कुमार ने बताया कि छापेमारी आगे भी जारी रहेगी और अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई किया जाएगा.

राज्य के कई जिलों में चला छापेमारी अभियान

राजधानी रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा सिटी एसपी और एसडीओ के नेतृत्व में अभियान चलाया गया. वहीं गिरिडीह केंद्रीय कारा में रात 12 बजे से 3 बजे तक एसपी सुरेंद्र कुमार झा के नेतृत्व में छापेमारी की गई. वहां से तीन चाकू, ताश की गड्डी व 400 खैनी बरामद हुए. साथ ही सिमडेगा अनुमंडल पदाधिकारी के नेतृत्व में सिमडेगा मंडल कारा में छापेमारी हुई. वहां भी कोई आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं हुई.

उल्लेखनीय है कि रांची में पिछले दिनों आपराधिक घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. पांच अक्टूबर को जहां चावल व्यवसायी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. वही सात अक्टूबर को हरमू गैस गोदाम से दिन-दहाड़े तीन लाख की लूट को अंजाम दिया गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: