न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

होटवार के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में छापामारी

45

Ranchi : राजधानी के होटवार स्थित बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में रविवार को सिटी एसपी सुजाता वीणापानी के नेतृत्व में पुलिस ने छापामारी अभियान चलाया. छापामारी में हटिया डीएसपी, कोतवाली डीएसपी, सीसीआर डीएसपी, सिटी डीएसपी सहित जिला प्रशासन की टीम शामिल थी. जेल में दो घंटे से अधिक समय तक भारी पुलिस बल की मौजूदगी में जेल के सभी वार्डों में छापामारी हुई. हालांकि, इस दौरान कोई आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं हुई.

बढ़ते अपराध को लेकर की गयी छापामारी

राजधानी रांची में बढ़ते अपराध को लेकर छापामारी की गयी. राजधानी रांची में बढ़ते अपराध के बाद पुलिस सक्रिय हो गयी है. राज्य की कई जेलों में पुलिस द्वारा छापामारी अभियान चलाया गया. इसी कड़ी में होटवार जेल में भी छापामारी हुई.

जेल में हड़कंप

बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में छापामारी के दौरान जेल में हड़कंप मच गया. बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में कई ऐसे कैदी भी बंद हैं, जो वीवीआईपी हैं. जब कैदियों को जेल में छापामारी की सूचना मिली, तो कैदियों में हड़कंप मच गया. हालांकि, बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार होटवार से कोई आपत्तिजनक वस्तु पुलिस के हाथ नहीं लगी.

पुराने अपराधियों से की गयी पूछताछ

कई हत्याओं के तार जेल से जुड़े रहते हैं. कुछ ऐसे अपराधी हैं, जो जेल में बैठे हुए अपने गिरोह की मदद से रंगदारी-हत्या जैसे अपराध को अंजाम दिलवाते हैं. आपराधिक घटनाओं में बढ़ोतरी की वजह से बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में छापामारी अभियान चलाया गया. हालांकि, कार्रवाई में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला, लेकिन इस दौरान पुराने अपराधियों से पूछताछ की गयी. विभिन्न स्रोतों से शिकायत मिल रही थी कि जेल से पुराने अपराधी रंगदारी, लूट और हत्या जैसी वारदात को अंजाम देने का प्लान तैयार कर रहे थे. वहीं, सिटी एसपी सुजाता वीणापानी ने बताया कि छापामारी आगे भी जारी रहेगी और अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें- राजधानी के 13837 भवनों की जानकारी से निगम अंजान, अब कर रहा होल्डिंग्स को निष्क्रिय करने की तैयारी

इसे भी पढ़ें- आर्मी की जमीन पर बनेगा रांची एयरोसिटी, जमीन हस्तांतरण को लेकर चल रही है बातचीत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: