न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राहुल बोले मोदी नाकाबिल इंसान, वे किसी की नहीं सुनते, मोदी ने कहा, चोरों का समाज एकजुट हो रहा है   

देश में एक साल में एक करोड़ नौकरियां खत्म हो गयीं और पीएम मोदी अनिल अंबानी से चोरी करवाते रहे

37

NewDelhi : पीएम मोदी नाकाबिल इंसान हैं, वे किसी की नहीं सुनते. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ताजा हमला इन शब्दों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किया है.  बता दें कि राहुल गांधी ने एक खबर पर ट्वीट करते हुए लिखा है, भारत की ग्रोथ स्टोरी  कांग्रेस ने बनायी है.  मोदी ने नोटबंदी और गब्बर सिंह टैक्स का इस्तेमाल इसे पूरी तरह से ध्वस्त करने में किया. वे एक नाकाबिल इंसान हैं जो किसी की नहीं सुनते हैं. इस क्रम में राहुल गांधी ने अपने ट्वीट के साथ एक खबर साझा की है,  जिसमें दावा किया गया है कि लोकसभा चुनाव के दौरान नोटबंदी और जीएसटी सरकार की बड़ी नाकामयाबी के रुप में सामने आ सकते हैं.  बता दें कि राहुल गांधी राफेल डील, नोटबंदी और जीएसटी को लेकर केंद्र की मोदी सरकार का पीछा नहीं छोड़ रहे हैं. शनिवार को ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि देश में एक साल में एक करोड़ नौकरियां खत्म हो गयीं और पीएम मोदी अनिल अंबानी से चोरी करवाते रहे. इस क्रम में राहुल गांधी ने बिजनेस टुडे की एक खबर पोस्ट करते हुए लिखा, ब्रेकिंग! साल 2018 में एक करोड़ 10 लाख नौकरियां खत्म हो गयीं.

प्रधानमंत्री आज भी राग जुमला अलाप रहे हैं

हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा करने वाले प्रधानमंत्री आज भी राग जुमला अलाप रहे हैं.  दी जी ने अनिल अंबानी को चोरी करवाने के बजाय अगर देश के लिए काम किया होता, तो युवाओं का भविष्य इतना असुरक्षित नहीं होता.  इस क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल पर हमलावर हुए.   बता दें कि ओडिशा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस लीडरशिप की पोल खुल रही है इसलिए वे आहत हैं.  कहा कि 3,600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर मामले में गिरफ्तार आरोपी बिचौलिया ब्रिटिश कारोबारी मिशेल और राहुल, सोनिया बीच संबंध हैं. पीएम ने कहा कि देश के चौकीदार को हटाने के लिए चोरों का समाज एकजुट हो रहा है, क्योंकि वह उनका भंडाफोड़ करके उनको पकड़ने वाला है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: