न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राहुल के गोत्र पर भाजपा का तंज, मरहूम फिरोज गांधी के पोते हैं राहुल,  कश्मीरी पंडित नहीं थे फिरोज

हम तो यह जानते हैं कि राहुल गांधी मरहूम फिरोज गांधी के पोते हैं. फिरोज गांधी कश्मीरी पंडित नहीं थे. यह बात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल के गोत्र के बारे में पूछे गये सवाल के जवाब में भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कही

eidbanner
112

 NewDelhi : हम तो यह जानते हैं कि राहुल गांधी मरहूम फिरोज गांधी के पोते हैं. फिरोज गांधी कश्मीरी पंडित नहीं थे. यह बात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल के गोत्र के बारे में पूछे गये सवाल के जवाब में भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कही.  शाहनवाज हुसैन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा खुद को कश्मीरी पंडित बताये जाने पर तंज कसा. कहा कि राहुल गांधी का जो भी गोत्र बताया जा रहा हो, मगर जबकि लोग हिंदू आतंकवाद और भगवा आतंकवाद जैसे शब्दों का इस्तेमाल कर माहौल बिगाड़ रहे हैं. कहा कि चुनाव आते ही राहुल गांधी को गोत्र की याद आ जाती है, मजहब की याद आ जाती है. बता दें कि राहुल द्वारा खुद का गोत्र बताये जाने पर राजनीति गरमाा गयी है. भाजपा के कई नेता राहुल पर हमलावर हुए हैं. राजस्थान में एक रैली में यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ ने कहा, आज यहां पर कांग्रेस के अध्यक्ष आये होंगे और मुझे आश्चर्य हो रहा था जब वे सुबह अजमेर शरीफ गये थे तो वहां उन्होंने इस बात को कहा कि मेरा गोत्र हैं.

राहुल 50 साल के होने जा रहे हैं.  अब उन्हें अपना गोत्र बताना पड़े, यह शर्म की बात है

राजस्थान के पोखरन में कांग्रेस अध्यक्ष पर तंज कसते हुए योगी ने कहा, राहुल गांधी के परनाना कहते थे कि मैं एक्सीडेंटली हिंदू हूं और उनकी चौथी पीढ़ी में आने वाला व्यक्ति कहता है कि मेरा गोत्र फलाना है.  मित्रों यह हमारी राजनीति की केवल वैचारिक विजय ही नहीं, हिंदू शाश्वत है और सत्य है.  जो इस बात को प्रदर्शित करता है.  केंद्रीय मंत्री साध्वी ज्योति ने भी राहुल गांधी द्वारा अजमेर दरगाह और पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर में माथा टेकने, अपना गोत्र बताने पर निशाना साधा.  कहा कि राहुल को अपना गोत्र बताने की अब क्या जरुरत पड़ गयी  वह 50 साल के होने जा रहे हैं.  अब उन्हें अपना गोत्र बताना पड़े, यह शर्म की बात है. यह सब उनकी नौटंकी है.

Related Posts

भारत से मिलकर काम करना चाहता है पाकिस्तान , इमरान ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात

दक्षिण एशिया में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए अपनी इच्छा दोहराते हुए इमरान ने कहा कि वे इन उद्देश्यों को आगे ले जाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के साथ मिलकर काम करने के प्रति आशान्वित हैं.

इसे भी पढ़ें :  डॉ मनमोहन सिंह की पीएम मोदी को नसीहत,  नैतिकता के अनुरूप आचरण के जरिये उदाहरण स्थापित करें

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: