National

राहुल गांधी का पूर्व सैनिक से वादा, सरकार में आएं तो लायेंगे ‘वन रैंक वन पेंशन’ स्कीम

NewDelhi: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को रिटायर्ड सैन्यकर्मियों से मुलाकात की. जहां राफेल डील समेत कई मसलों पर चर्चा हुई. इस मुलाकात में उन्होंने सेवानिवृत्त सैनिकों के एक समूह से कहा कि सत्ता में आने पर कांग्रेस ’वन रैंक, वन पेंशन’ (ओआरओपी) के मु्द्दे पर किए अपने सभी वादों को पूरा करेगी.

इसे भी पढ़ेंःऊर्जा विभाग के जीएम एचआर पर लगे कई गंभीर आरोप, आरोप पत्र गठित- कार्मिक ने किया शो-कॉज

पूर्व सैनिकों के साथ बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अगर उनकी पार्टी 2019 के संसदीय चुनाव के बाद सत्ता में आती है तो ओआरओपी सहित सभी मांगें पूरी की जायेंगी. सैन्यकर्मियों के साथ मुलाकात में राफेल सौदे में ‘गड़बड़ी’ और ओआरओपी में सैनिकों के साथ ‘धोखे’ की बात उठाई गई. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार ने राफेल डील की प्रक्रिया बदल दी. साथ ही सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन लागू नहीं किया गया.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ेंःबकोरिया कांडः जब मुठभेड़ फर्जी नहीं थी, तो सीबीआई जांच से क्यों डर रही है सरकार !

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

राफेल जंगी जहाज सौदे के मुद्दे को उठाते हुए उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने 30 हजार करोड़ रूपये उद्योगपति अनिल अंबानी को दे दिये. लेकिन सैनिकों की ओआरओपी को पूरा करने से इंकार कर दिया.

इसे भी पढ़ेंःजेपीएससी लेक्चरर नियुक्ति : CBI ने विवि प्रबंधन से फिर पूछा, किस आधार पर हुई व्याख्याताओं की सेवा संपुष्ट

उन्होंने 30 मिनट तक चली इस बातचीत में कहा कि यह भारी-भरकम राशि ओआरओपी मसले को हल करने के लिए पर्याप्त है. कांग्रेस का आरोप है कि राफेल सौदे मामले में मोदी सरकार अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली कंपनी के पक्ष में झुकी हुई है. कंपनी इन आरोपों से इनकार कर चुकी है.

इसे भी पढ़ेंःCBI विवादः IRCTC घोटाले में निदेशक वर्मा ने लालू प्रसाद के खिलाफ जांच करने से किया था मना- अस्थाना

Related Articles

Back to top button