National

बजट पूर्व #Rahul_Gandhi का PM Modi और वित्त मंत्री पर तंज, दोनों को अर्थव्यवस्था की जानकारी नहीं  कि आगे क्या करना है…

NewDelhi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इस बारे में अनभिज्ञ हैं कि आर्थिक विकास को गति देने के लिए उन्हें आगे क्या करना है.  मोदी और उनकी आर्थिक सलाहकारों की ड्रीम टीम ने अर्थव्यवस्था को निश्चित तौर पर बदल दिया है. पहले जीडीपी विकास दर 7.5 फीसदी और महंगाई 3.5 फीसदी थी.

अब जीडीपी विकास दर 3.5 फीसदी और महंगाई दर 7.5 फीसदी है. यह कहते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला किया है. आम बजट पेश किये जाने से पहले आज बुधवार को यह दावा करते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट कर कटाक्ष किया,   पीएम और वित्त मंत्री इस बारे में अनभिज्ञ हैं कि आगे क्या करना है.

इसे भी पढ़ें :  #Budget_Session 31 जनवरी से, अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर घिरी सरकार के लिए बजट सत्र आसान नहीं होने वाला

मोदी सरकार ने किसानों को बर्बाद और मनरेगा को खोखला कर दिया

जान लें कि आगामी एक फरवरी को वित्त मंत्री वर्ष 2020-21 के लिए बजट पेश करेंगी.  इससे पूर्व कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश की छवि को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए कहा कि विदेशी कंपनियां आज यहां निवेश करने से कतरा रही हैं. उन्होंने पीएम मोदी को चुनौती दी कि वह देश के किसी भी विश्वविद्यालय में जाकर वहां के विद्यार्थियों के सवालों का सामना करें.

जयपुर के रामबाग इलाके में कांग्रेस की युवा आक्रोश रैली में  राहुल ने मुख्य रूप से युवाओं, बेरोजगारी व देश की छवि पर केंद्रित भाषण  दिया. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों को बर्बाद और मनरेगा को खोखला कर दिया है.

इसे भी पढ़ें :  #DelhiElection: चुनाव आयोग का आदेश, कहा- अनुराग ठाकुर व प्रवेश वर्मा को स्टार प्रचारक की लिस्ट से बाहर करे BJP

देश की अर्थव्यवस्था डगमगा रही है

देश की अर्थव्यवस्था डगमगा रही है और पिछले 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी आज हिंदुस्तान में है. राहुल गांधी ने कहा कि चीन का मुकाबला केवल भारत कर सकता है, यह बात पूरी दुनिया जानती है लेकिन मौजूदा हालात में कंपनियां यहां आने से हिचक रही हैं.

उन्होंने कहा, सारे देश हिंदुस्तान के साथ खड़े होकर हिंदुस्तान को विनिर्माण का हब बनाना चाहते हैं. सारी कंपनियां जो आज चीन में हैं वे हिंदुस्तान में आना चाहती हैं. लेकिन कहती हैं कि हिंदुस्तान के लोग एक दूसरे से लड़ रहे हैं. हिंदुस्तान की सरकार देश में हिंसा फैला रही है. हिंसा के इस माहौल में हम निवेश क्यों करें?

हिंदुस्तान में एक करोड़ युवाओं ने रोजगार खोया है

राहुल ने कहा, नरेंद्र मोदी ने दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी, लेकिन पिछले साल हिंदुस्तान में एक करोड़ युवाओं ने रोजगार खोया है. उन्होंने कहा कि  NRC की बात होगी, CAA, NPR की बात होगी लेकिन देश के सामने जो सबसे बड़ी समस्या है, जो इस देश के हर परिवार को चुभती है उस बारे में हमारे प्रधानमंत्री एक शब्द नहीं बोलते हैं.

अर्थव्यवस्था में गिरावट को लेकर भी राहुल ने मोदी पर तंज कसा और कहा, ‘नरेन्द्र मोदी ने शायद इकोनोमिक्स नहीं  पढ़ा है,  समझे नहीं हैं कि अर्थव्यवस्था तब चलती है जब गरीबों की जेब में पैसा आता है.

इसे भी पढ़ें : हर चुनाव में भावनात्मक सवालों पर मतदाताओं को रिझाने का प्रयास भारतीय लोकतंत्र के लिए खतरा

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: