न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राहुल गांधी की मानसरोवर यात्रा पर संकट के बादल ! नहीं मिला कोई आवेदन- विदेश मंत्रालय

181

NewDelhi: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. गुरुवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ”हमें राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए कोई औपचारिक आवेदन नहीं मिला है.” अब इस मामले को लेकर कांग्रेस हमलावर है. पार्टी का आरोप है कि सरकार नहीं चाहती है कि राहुल मानसरोवर जाये इसलिए गलत बयानबाजी की जा रही है.
इसे भी पढ़ें:स्विस बैंकों में भारतीयों के पैसे बढ़ने पर कांग्रेस का वार, कहा- जुमले बने अच्छे दिन, कहां गये वो सच्चे दिन!

विशेष श्रेणी में दिया आवेदन- कांग्रेस

कांग्रेस पार्टी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जान बूझकर राहुल गांधी की मानसरोवर की यात्रा में रोड़े लगाये जा रहे हैं. समाचार पत्र नेशनल हेराल्ड की वेबसाइट ने कांग्रेस के सूत्रों के हवाले से लिखा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कैलाश मानसरोवर की यात्रा करने के लिए आम नागरिकों के लिए तय किए गए समय में अपना आवेदन नहीं किया है. लेकिन उन्होंने विशेष श्रेणी के लिए आवेदन जरूर किया है. आमतौर पर ये आवेदन संसद सदस्यों के लिए मान्य होता है. लेकिन अभी तक विदेश मंत्रालय ने उनके इस आवेदन का कोई भी जवाब नहीं दिया है.

नहीं मिला कोई आवेदन

इधर विदेश मंत्रालय ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष की कैलाश मानसरोवर की यात्रा को लेकर कोई आवेदन नहीं मिला है. हालांकि राहुल गांधी ने मानसरोवर यात्रा पर जाने की बात जरुर कही थी, लेकिन विदेश मंत्रालय को किसी तरह का आवेदन नहीं मिला है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि मानसरोवर की यात्रा दो तरीके से हो सकती है. इसमें पहला विदेश मंत्रालय आयोजित करता है. इसके लिए पंजीकरण कराना होता है. उन्होंने बताया कि एक लॉटरी प्रणाली होती है और पारदर्शी ढंग से नाम चुना जाता है. कुमार ने कहा कि उनकी ओर से ऐसा कोई पंजीकरण नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि इस यात्रा के लिए दूसरा तरीका निजी आपरेटर के माध्यम से यात्रा पर जाने का है. यह नेपाल के रास्ते होता है और इसके लिये चीन से वीजा की जरूरत होती है. उन्होंने कहा कि अभी हमारे पर राहुल गांधी ओर से कोई संवाद नहीं आया है, हमारे पास कोई संवाद आयेगा तब निश्चित रूप से विचार करेंगे.

इसे भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीरः पाकिस्तान में रची गयी पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या की साजिश
बता दें कि 29 अप्रैल को दिल्ली में आयोजित एक जनसभा में राहुल गांधी ने कहा था कि कर्नाटक चुनाव के बाद वो कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाएंगे. उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से 10—15 दिन की छुट्टी भी मांगी थी. पार्टी की ‘जन आक्रोश’ रैली में राहुल ने 27 जून को अपने विमान में आई तकनीकी गड़बड़ी की घटना का उल्लेख किया और कहा कि चुनाव पूरा होने के बाद वह इस धार्मिक यात्रा पर जाएंगे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: