National

राहुल गांधी ने लोकसभा में कहा, किसान खुदकुशी कर रहे हैं, मोदी सरकार नाइंसाफी कर रही

NewDelhi :   कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को लोकसभा में शून्यकाल के दौरान किसानों की खुदकुशी का मुद्दा उठाया.  इस मामले में  सत्तापक्ष और कांग्रेस के सदस्यों के बीच नोकझोंक भी देखने को मिली. राहुल गांधी ने बताया कि वायनाड में बुधवार को एक किसान ने खुदकुशी कर ली.  वायनाड में आठ हजार किसानों को बैंक का नोटिस मिला है.

एक कानून के तहत वहां किसानों की प्रोपर्टी जब्त की गयी है जिसके कारण किसानों की खुदकुशी के मामले में बढ़ोतरी हुई है. आरोप लगाया कि मोदी सरकार किसानों के साथ नाइंसाफी कर रही है. कहा कि सरकार अमीरों का टैक्स माफ करती है पर किसानों पर ध्यान नहीं है.

advt

इसे भी पढ़ेंः अयोध्या विवादः मध्यस्थता समिति को 18 जुलाई तक का समय, 25 से होगी रोजाना सुनवाई- सुप्रीम कोर्ट

बैंक किसानों को कर्ज का रिकवरी नोटिस भेज परेशान न करें

राहुल ने कहा कि किसानों को मुआवजे देने की प्रक्रिया में बाधा आ रही है.  देश का किसान परेशान है. मैं सरकार का ध्यान इस ओर खींचना चाहता हूं. किसानों की भलाई के लिए केंद्रीय बजट में कोई ठोस पहल नहीं की गयी. राहुल गांधी ने कहा कि मैं सरकार से आग्रह करता हूं कि रिजर्व बैंक को केरल सरकार के मोरेटोरियम पर ध्यान देने के लिए कहा जाये सुनिश्चित किया जाये कि बैंक किसानों को कर्ज का रिकवरी नोटिस भेज कर परेशान न करें. कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों से जो वादे किये थे उन्हें पूरा करना चाहिए

कांग्रेस नेता राहुल ने कहा कि  पिछले पांच वर्षों में मोदी सरकार ने 5.5 लाख करोड़ रुपये बड़े उद्योगपतियों के माफ किये, लेकिन किसानों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है. गांधी ने कहा कि बड़े दुख की बात है कि बजट में किसानों को राहत देने के लिए कोई ठोस उपाय नहीं किये गये हैं

किसानों की  स्थिति के लिए लंबे समय तक रहीं सरकारें जिम्मेदार : राजनाथ सिंह

राहुल के बयान पर रक्षा मंत्री और सदन के उपनेता राजनाथ सिंह ने कहा कि किसानों की इस स्थिति के लिए लंबे समय तक रहीं सरकारें जिम्मेदार हैं. मोदी सरकार ने किसानों के हित में कई कदम उठाये  हैं  उन्होंने कहा कि किसानों की खुदकुशी के सबसे ज्यादा मामले पहले की सरकारों के दौरान आये.

हमारी सरकार ने किसानों की आमदनी दोगुनी करने सहित कई महत्वपूर्ण पहल की हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद से किसानों के हित में कई कदम उठाये गये जिनमें सभी किसानों को सालाना 6000 रुपये देने का कदम शामिल है कहा कि  पिछले कुछ वर्षों में किसानों की खुदकुशी के मामलों में कमी आयी है.

इसे भी पढ़ेंः कर्नाटक व गोवा के बाद अब झारखंड में “शुद्धिकरण” की बारी !

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: