न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

निर्मला सीतारमण पर टिप्पणी कर फंसे राहुल, महिला आयोग ने भेजा नोटिस

952

New Delhi: राफेल डील में कथित गड़बड़ी के आरोपों को लेकर राहुल गांधी प्रधानमंत्री मोदी पर लगातार हमलावर हैं. वहीं इस सौदे को लेकर वो रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर भी निशाना साध रहे हैं. लेकिन देश की रक्षा मंत्री को लेकर दिए गए अपने बयान पर राहुल गांधी घिरते नजर आ रहे हैं. कांग्रेस अध्यक्ष के बयान पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने उन्हें नोटिस भेजा है. जिसे लेकर उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं. दरअसल, राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री एक महिला के पीछे छिप रहे हैं. इस बयान की पीएम मोदी, अमित शाह समेत कई नेताओं ने आलोचना की थी.

क्या कहा था राहुल ने

राफेल मुद्दे पर हमलावर राहुल ने निर्मला सीतारमण के बयान पर असंतुष्टि जताते हुए कहा था, “हमने जनता की अदालत में राफेल सौदे पर सवाल उठाया. हमने मोदी जी से आगे आकर राफेल मुद्दे पर उनका रुख स्पष्ट करने की मांग की और कहा कि कांग्रेस पार्टी अपना रुख स्पष्ट करेगी. लेकिन, 56 इंच के सीने का दावा करने वाले प्रधानमंत्री ने संसद में कदम रखने का साहस नहीं दिखाया.”

संसद में सीतारमण के ढाई घंटें के भाषण को बेकार बताते हुए उन्होंने कहा कि वे एक सवाल का भी संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाईं. राहुल ने कहा, “प्रधानमंत्री जनता की अदालत से भाग गए और कहा, ‘सीतारमण जी मुझे बचाओ, मैं खुद को भी नहीं बचा सकता, आप हमें बचाओ.’ लेकिन, वे भी अपने ढाई घंटों के भाषण में उन्हें नहीं बचा सकीं.”

राष्ट्रीय महिला आयोग नाराज

राष्ट्रीय महिला आयोग ने कांग्रेस अध्यक्ष के बयान को महिला विरोधी बताया है. इसे लेकर नोटिस जारी किया है. आयोग ने बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

silk

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट किया कि राहुल गांधी का “…एक महिला से कहा मेरी रक्षा कीजिए? महिला विरोधी बयान है. क्या वह सोचते हैं कि एक महिला कमजोर है?  एक राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष देश की रक्षा मंत्री को ही कमजोर बता रहे हैं. जिसके बाद राष्ट्रीय महिला आयोग के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से लिखा गया कि आयोग कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को इस मामले में नोटिस जारी करेगा.

बयान की पीएम मोदी ने की थी आलोचना

राहुल गांधी के इस बयान की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आलोचना करते हुए इसे महिला विरोधी करार दिया था. हालांकि, इसपर राहुल गांधी ने पलटवार करते हुए कहा था कि ‘‘बातों को घुमाना बंद करिए. मेरे सवाल का जवाब दीजिए.

इसे भी पढ़ेंः सरकार 25 करोड़ खर्च कर खरीदेगी सैनिटरी नैपकिन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: