National

राहुल का पीएम मोदी पर हमला, कोरोना वैक्सीन पर स्टैंड क्लियर करें…पहले कहा, सबको देंगे, अब नकार रहे हैं

अगर कुछ लोगों को टीका लगाकर चेन तोड़ी जा सकती है तो पूरी आबादी के टीकाकरण की जरूरत नहीं पड़ेगी

NewDelhi : मोदी सरकार बिहार चुनाव के समय सबको फ्री वैक्सीन देने की बात कह रही थी. अब सरकार कह रही है कि सबको वैक्सीन नहीं लगेगी. आखिर पीएम मोदी का स्टैंड क्या है. यह सवाल राहुल गांधी का है. राहुल गांधी ने ट्वीट कर मोदी सरकार को एक बार फिर घेरा है.  बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण के अनुसार उन्हें प्राथमिकता दी जायेगी जो आसानी से कोरोना का शिकार हो सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट का महत्वपूर्ण आदेश, सीबीआई, ईडी, एनआईए कार्यालयों , पुलिस थानों में सीसीटीवी कैमरे लगाये जायें…

टीका अभियान का उद्देश्य कोविड चेन को तोड़ना

आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा था कि टीका अभियान का उद्देश्य कोविड चेन को तोड़ना होगा. कहा कि अगर कुछ लोगों को टीका लगाकर चेन तोड़ी जा सकती है तो पूरी आबादी के टीकाकरण की जरूरत नहीं पड़ेगी. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव का भी कहना है कि सरकार ने पूरे देश के टीकाकरण के बारे में नहीं कहा था.

इसे भी पढ़ें : संयुक्त राष्ट्र महासभा का विशेष सत्र आज से, विश्व भर के नेता जुटेंगे, कोरोना पर होगा महामंथन…

 वैक्सीन को लेकर सरकार की रणनीति सामने आ रही है

वैक्सीन को लेकर सरकार की रणनीति सामने आ रही है. खबर है कि पहले 30 करोड़  आबादी का टीकाकरण हो सकता है जिसमें कोरोना वॉरियर्स और 50 साल के ऊपर के लोग शामिल होंगे. इसके बाद वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर बाकी लोगों से कीमत भी ली जा सकती है. हालांकि सरकार ने अभी इस मामले में कोई बयान नहीं जारी किया है.

भारत  मुख्यतः पांच वैक्सीन पर ध्यान दे रहा है

भारत अभी अपनी ज्यादा जरूरत को ध्यान में रखते हुए मुख्यतः पांच वैक्सीन पर ध्यान दे रहा है. इसमें ऐस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड, जायडस कैडिला, बायोलॉजिकल ई, डॉ रेड्डी और भारत बायोटेक की वैक्सीन शामिल है.  पॉल ने कहा कि इन पांचों से अच्छी मात्रा में वैक्सीन मिल सकती है औऱ महामारी पर नियंत्रण किया जा सकता है.

अहमदाबाद में जायडस कैडिला जायकोव डी के नाम से वैक्सीन बना रही है.  इसके दो चरणों का ट्रायल हो चुका है. भारत बायोटेक और आईसीएमआर मिलकर वैक्सीन बना रही है. 25 अस्पतालों में इसके तीसरे चरण का ट्रायल होने की जानकारी सामने आयी है.

इसे भी पढ़ें : शिवसेना ने कहा, अध्यादेश लाकर केंद्र सरकार मस्जिदों पर लगे लाउडस्पीकरों पर रोक लगाये

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: