न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोतियाबिंद की शिकार है रघुवर सरकार, इलाज कराकर देखे जनता का गुस्सा : सुबोधकांत

381

Ranchi : रघुवर सरकार को उसकी कथित दमनकारी नीतियों के खिलाफ घेरते हुए कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि सरकार की आंख में मोतियाबिंद हो गया है. ऐसी सरकार को अपना इलाज कराकर देखना चाहिए कि उसकी नीतियों के खिलाफ जनता का गुस्सा कैसे अब सड़क पर आ गया है. उन्होंने विपक्ष सहित कई सामाजिक संगठनों द्वारा शनिवार को निकाले गये राजभवन मार्च के दौरान यह बात कही. इस दौरान उन्होंने पाकुड़ में स्वामी अग्निवेश पर जानलेवा हमला और यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं की निर्ममतापूर्वक पिटाई, मॉब लिंचिंग सहित कई मुद्दों पर सरकार की आलोचना भी की.

इसे भी पढ़ें- मॉनसून सत्रः जन मुद्दों को छोड़ आपस में भिड़ रहे हैं सत्ता और विपक्ष, कार्यवाही बाधित

सरकार की नीतियों के खिलाफ राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

मोतियाबिंद की शिकार है रघुवर सरकार, इलाज कराकर देखे जनता का गुस्सा : सुबोधकांत
राज्यपाल को सौंपा गया ज्ञापन.

राजभवन मार्च में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी सहित कांग्रेस, झामुमो, जेवीएम समेत विपक्ष के कई कार्यकर्ता शामिल थे. बाबूलाल मरांडी ने कहा कि लोकतंत्र में हर व्यक्ति को अपनी बात बोलने का हक है. इसके विपरीत वर्तमान रघुवर सरकार हर उस व्यक्ति की आवाज दबाने की कोशिश कर रही है, जो गरीबों का मसीहा बना हुआ है. इस दौरान तमाम विपक्षी दलों द्वारा सरकार की नीतियों के खिलाफ राज्यपाल को ज्ञापन भी सौंपा गया.

इसे भी पढ़ें- विस मॉनसून सत्र : अंतिम दिन पारित हुए छह विधेयक

सरकारी लिंचिंग का काम कर रही है सरकार

उपरोक्त कई मुद्दों पर निकाले गये राजभवन मार्च को लेकर विभिन्न सामाजिक संगठनों को बधाई देते हुए सुबोधकांत सहाय ने कहा कि सरकार की किसी भी गलत कार्रवाई के खिलाफ पूरा विपक्षी दल उनके साथ खड़ा है. सरकार को नसीहत देते हुए उन्होंने कहा कि वह मोतियाबिंद की शिकार है. ऐसे में उसे अपनी बीमारी को ठीक कराकर देखना चाहिए कि वह सरकार अब ज्यादा दिन सत्ता का सुख भोगनेवाली नहीं है. राज्य में बढ़ रही मॉब लिंचिंग की घटना पर सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि यह सरकारी लिंचिंग है. वहीं, यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं की निर्ममतापूर्वक पिटाई यह साबित करती है कि रघुवर सरकार की शह पर ही बेगुनाहों के खिलाफ सरकारी लिंचिंग की जा रही है. सुप्रीम कोर्ट ने भी मॉब लिंचिंग के खिलाफ राज्य सरकार को सख्त निर्देश दिया है, इसके बावजूद इसे रोकने का प्रयास नहीं करना यह साबित करता है कि रघुवर सरकार कोर्ट के आदेश की अवहेलना कर रही है.

silk_park

इसे भी पढ़ें- मॉनसून सत्र : कार्यवाही को जनता ने 12 करोड़ से सींचा, मिला सिर्फ ‘सुखाड़’

भ्रष्टाचार में लिप्त है रघुवर सरकार

जेवीएम के छह विधायकों को खरीदने का आरोप लगाते हुए सुबोधकांत सहाय ने कहा कि ऐसा केवल भाजपा सरकार में ही हो सकता है कि दूसरे दल के विधायक को खरीदकर सरकार को चलाया जाये. इससे साबित होता है कि यह सरकार पूरी तरह से भ्रष्टाचार में लिप्त है. ऐसी सरकार में राज्य के युवा, महिला, किसान मजदूर, अल्पसंख्यकों, छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो गया है. राजधानी में जिस तरह से अपराध बढ़ा है, उससे लोगों में भय का माहौल बनता जा रहा है. वहीं, इस तरह की कार्यवाही के खिलाफ जो भी आवाज उठाता है, भ्रष्टाचार में लिप्त सरकार ऐसी आवाज को अपनी लाठी से दबा देती है.

इसे भी पढ़ें- घोषणा कर भूली सरकारः 21 जुलाई- डीजीपी साहेब छात्राओं की सुरक्षा के वायदे नहीं हुए पूरे

वादों के जुमले की पार्टी है भाजपा : बाबूलाल

राजभवन मार्च को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कहा कि भाजपा का चरित्र अब जनता के समक्ष उजागर हो गया है. भाजपा लोकतंत्र में हर उस आवाज को दबाने का काम कर रही है, जो अपने अधिकारों के लिए संघर्ष कर रही है. भाजपा को वादों के जुमले वाली पार्टी बताते हुए बाबूलाल ने कहा कि वर्तमान रघुवर सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ चरणबद्ध आंदोलन शुरू हो गया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: