JharkhandRanchi

रघुवर सरकार की तमाम योजनाओं में गड़बड़झाला : योगेंद्र प्रताप

Ranchi : झाविमो के केंद्रीय प्रवक्ता योगेंद्र प्रताप ने कहा है कि राज्य सरकार के सीनियर मंत्री सरयू राय द्वारा सरकार पर अमेरिका की कंपनी अन्सर्ट एंड यंग और प्राइस वाटर हाउस कूपर के टेंडर में नियमों के उल्लंघन व गड़बड़ी का जो आरोप लगाया गया है. रघुवर सरकार के कार्यकाल के लिए यह कोई अप्रत्याशित व हैरान करने वाला मसला नहीं है. रघुवर सरकार के दामन पर लगा यह आरोप न तो पहला है और न ही आखिरी.

इसे भी पढ़ें : पहली पत्‍नी अपने दो भाइयों के साथ पति की तलाश में धनबाद से पहुंची गिरिडीह, पति फरार

हर विभाग में है घोटाला

Catalyst IAS
ram janam hospital

सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोपों की लंबी फेहरिस्त है. कहना गलत नहीं होगा कि गड़बड़ियां व भ्रष्टाचार तो इस सरकार का शगल बन चुका है. रघुवर सरकार की तमाम योजनाओं में ही गड़बड़झाला है. रघुवर सरकार के कार्यकाल के आप जिस विभाग को भी लें, वही भ्रष्टाचार के मार्ग से होकर ही गुजरा है. चाहें वह खनन का हो, सड़क या भवन का हो, हाईकोर्ट भवन निर्माण मामला हो, ऊर्जा का हो, स्किल डेवलपमेंट का मामला हो या अन्य किसी भी विभाग का. सरयू राय ने तो बीते दिनों यहां तक कह दिया था कि रघुवर कैबिनेट में रहना शर्मनाक है और तो और सीएम जनसंवाद में जब एक नागरिक ने मुख्यमंत्री के मुंह पर यह दिया कि राज्य के किसी भी विभाग में बिना पैसे का कोई काम नहीं होता तो, अब कहने के लिए कुछ नहीं बचता है.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : पलामू संसदीय क्षेत्र में बनेंगे 220 मॉडल बूथ, 46 सखी मतदान केंद्र बनाये जायेंगे : उपायुक्‍त

झारखंड की जनता रघुवर सरकार की गुरूर तोड़ेगी

कहा कि इस सरकार के लिए भ्रष्टाचार व नियमों के उल्लंघन से जुड़ा कोई भी आरोप एक प्रकार से सदाचार में शामिल हो चुका है. रही बात सरयू राय की तो बहुमत के नशे में चूर यह भाजपा सरकार इतनी निरंकुश व हठधर्मी है कि ऐसा प्रतीत हो रहा है कि श्री राय अपनी ही सरकार पर आरोप लगाते-लगाते भले ही एक्स मंत्री हो जायें परंतु इस सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंगने वाली है. इस भाजपा सरकार का गुरूर टूटने का वक्त आ चुका है. पहले लोकसभा और फिर विधानसभा चुनाव में झारखंड की जनता इनका सारा गुरूर तोड़ देगी.

इसे भी पढ़ें : जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषा विभाग में नागपुरी पर व्याख्यान का आयोजन

Related Articles

Back to top button