JharkhandMain SliderRanchi

रघुवर सरकार ने भ्रष्टाचार करने की नीयत से ही विकास कार्यक्रम चलायाः सरयू

Ranchi: पूर्व मंत्री सरयू राय ने एक बार फिर से बीजेपी को निशाने पर लिया है. इस बार उन्होंने सीधा राष्ट्रीय अध्यक्ष पर ही ऊंगली उठा दी है.

Jharkhand Rai

सरयू राय ने एक के बाद एक लगातार तीन ट्वीट किये. सभी ट्वीट में उन्होंने अमित शाह को निशाने पर रखा है. उन्होंने सीधा आरोप लगाया है कि सब कुछ जानते हुए भी पार्टी ने रघुवर दास की वजह से पार्टी को गर्त में भेज दिया. उन्होंने कहा कि उन्हें नुकसान पहुंचाने के चक्कर में बीजेपी को इतनी बड़ी हार का सामना करना पड़ा.

पहले ट्वीट में उन्होंने कहा -

भाजपा अध्यक्ष

@AmitShah

विगत 5 वर्षों में झारखंड के विकास की असलियत पता करें तब इस बारे में मीडिया में बोलें. इन दिनों यहां केवल विकास कार्यक्रमों को लागू करने में ही भ्रष्टाचार नहीं हुए हैं बल्कि भ्रष्टाचार करने की नीयत से ही विकास कार्यक्रम चलाये गये हैं. अपने लोगों से ही पूछ लें.

इसे भी पढ़ें – नौकरी घोटाला : सरयू राय ने रिकॉर्ड जारी कर कहा, रघुवर ने 26 हजार युवकों को रोजगार देने का झूठा दावा किया

दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा -

क्या माननीय

@AmitShah

जी को पता नहीं था कि झारखंड सरकार के 30 विभागों में से उनके लाडले मुख्यमंत्री @dasraghubar ने 16 विभाग अपने पास रखे थे, जिनमें बड़े और मलाईदार कहे जानेवाले सभी विभाग शामिल थे. उन्होंने संविधान को ताक पर रख कर 11 में से 1 मंत्री का पद 5 वर्ष तक ख़ाली रखा. क्यों?

इसे भी पढ़ें – सरकार के खजाने पर लाल बत्ती जल गयी है, क्यों नहीं वित्त विभाग के मंत्री रघुवर दास को बर्खास्त किया जायेः सरयू राय

तीसरे ट्वीट में वो कहते हैं -

माननीय @AmitShah जी को खुलासा करना चाहिए कि विगत 5 वर्षों तक झारखंड में सरकार और संगठन की ख़स्ताहाल के बारे में उन्हें कौन गुमराह करते रहा और मुझे नुक़सान पहुंचाने के षडयंत्र में भाजपा को गर्त में पहुंचा दिया. 2009 में भी ऐसा ही हुआ था तब तो सबक़ नहीं लिया, अब तो चेतिये.

इधर सरयू राय के ट्वीट करने के बाद तीनों ट्वीट को लगातार रीट्वीट मिल रहे हैं. सबसे ज्यादा रीट्वीट पहली वाले ट्वीट को मिला है. जिसमें उन्होंने कहा है कि झारखंड में विकास योजना भ्रष्टाचार के लिए चलाये जाते थे.

इसे भी पढ़ें – कंबल घोटालाः IAS मंजूनाथ भजंत्री ने जब कार्रवाई शुरू की तो रघुवर सरकार ने उन्हें परेशान कर तबादला कर दिया

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: