न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांवरियों से संवाद में बोले रघुवर दास, जनता के उत्साह और आत्मविश्वास से मिलती है ऊर्जा

जमशेदपुर से सीएम ने किया कावंरियों से संवाद

246

Jamshedpur: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जमशेदपुर के सिदगोड़ा स्थित सोन मंडप से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देवघर के कांवरियों से संवाद किया. देवघर के कांवरिया पथ के सरासरी में कांवरियों से सीधे संवाद के दौरान उत्तर प्रदेश के महू, गोरखपुर, गाजियाबाद, बिहार के भागलपुर, महाराष्ट्र के मुंबई सहित देशभर के विभिन्न राज्यों से आए हुए कांवरियों से बात की. कांवरियों ने मेला क्षेत्र की व्यवस्थाओं के बारे में अपने अनुभव सीएम के साथ साझा किये.

इसे भी पढ़ेंःपानपोष में ट्रेन की चपेट में आने से 4 कावंरियों की मौत

इसके अलावा जमशेदपुर के बारीडीह छठ घाट में स्वर्णरेखा नदी से जल भरकर जमशेदपुर के सूर्य मंदिर के शिवलिंग में 10 हजार श्रद्धालुओं के साथ जलाभिषेक किया. इसमें नारी शक्ति ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया.

2019 में और बेहतर होगी सुविधाएं-सीएम

हजारों लोगों ने किया जलाभिषेक

वीडियो कॉफ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि 2019 में होनेवाले श्रावणी मेला में व्यवस्थाएं और भी अधिक गुणवत्ता पूर्ण होंगी. उन्होंने कहा कि द्वादश ज्योतिर्लिंग में रावणेश्वर महादेव को मनोकामना ज्योतिर्लिंग के रूप में भी जाना जाता है. देव तुल्य श्रद्धालु, डाक बम और साधारण बम कठिन रास्ते तय कर अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मनोकामना ज्योतिर्लिंग के दर्शन को आते हैं. और यह लक्ष्य  है भगवान शिव पर जल अर्पण करना. उन्होंने कहा कि विधायक बनने के पूर्व सात बार सुल्तानगंज से पैदल चलकर बाबा भोलेनाथ पर जल चढ़ा चुके हैं. मुख्यमंत्री बनने के बाद भी भगवान शिव का जलाभिषेक करने की परंपरा को कायम रखा है.

इसे भी पढ़ेंःसीएम की अध्यक्षता वाली विकास परिषद के सीईओ ने सरकार की कार्यशैली और ‘विकास’ पर उठाया सवाल

‘जनता के आशीष से बना मुख्य सेवक’

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता के आशीर्वाद से ही मैं राज्य का मुख्य सेवक बना हूं. उन्होंने कहा कि शिव का उपदेश है कि लोक कल्याण के काम करने चाहिए. शिव का मर्म है कि अच्छाई और बुराई दोनों को अपने में आत्मसात कर लें. दुनिया में सर्वत्र अच्छाई, सकारात्मक ऊर्जा और नवीन प्रकाश के स्रोत को वितरित करें. सरकार द्वारा जो काम किए जा रहे हैं उनके पीछे लोक कल्याण का भाव छिपा हुआ है.

‘जनता के उत्साह से मिलती है ऊर्जा’

इस दौरान सीएम ने कहा कि मेरे अंदर जो शक्ति है वह भी जनता की शक्ति है. जनता के उत्साह एवं आत्मविश्वास से मुझे नई ऊर्जा प्राप्त होती है और इस ऊर्जा को लोक कल्याण में अर्पित करता हूं. उन्होंने कहा कि शिव ने अमृत और विष दोनों ग्रहण किए और विष को अपने अंदर पचा लिया, हम सभी भी यह प्रयास करें कि समाज के अंदर की विकृतियों को पचा कर अपने मुख से अमृतवाणी निकलें. ताकि देश-समाज में आपसी भाईचारा, लोक कल्याण और प्रेम कायम रहे.

इसे भी पढ़ेंःसाइबर थाने में जल्द दर्ज नहीं होती FIR, चक्कर काटने को लोग विवश

मुख्यमंत्री ने कहा कि बासुकीनाथ में फौजदारी बाबा हैं और उनके दर्शन के लिए भी जाना जरूरी है. उन्होंने कहा कि देवघर से बासुकीनाथ तक नि:शुल्क बस सेवा राज्य सरकार ने प्रारंभ की है. वह सुविधा सुचारु रुप से मिल रही है कि नहीं, इस संदर्भ में मुख्यमंत्री ने कांवरियों से जानकारी ली.

इस साल बेहतर व्यवस्था- कांवरिया

आजमगढ़ से आए हुए बम ने कहा कि विगत 19 वर्षों से लगातार आकर यहां पर 1 माह तक निरंतर अपनी सेवा मेला परिसर में आए हुए श्रद्धालुओं को देते हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि यहां पर लगभग 40 बसें चलती हैं और विगत वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष सर्वोत्तम व्यवस्था की गई है. मुख्यमंत्री ने सरकार, जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग कथा व्यवस्था संचालन में लगे हुए सभी संबंधित विभागों को साधुवाद देते हुए कहा कि इसी प्रतिबद्धता के साथ देव तुल्य कांवरियों की सेवा पूरे श्रावण मास में करना है.

इसे भी पढ़ेंःसिमडेगाः ओडिशा से जल लेकर आये 3 हजार कांवरियों ने भगवान शिव का किया जलाभिषेक

वही सीधा संवाद को दौरान देवघर के उपायुक्त ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि सावन के तीसरे सोमवार को एक दिन में लगभग तीन लाख लोगों के जल अर्पण करने की संभावना है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: